बच्चों के सामने चुनौतीपूर्ण परिस्थितियां रखें और सामाजिक उद्देश्यों के काम करवाएं, इससे उन्हें भविष्य मजबूत बनाने में मिलेगी मदद

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु इस मंगलवार देहरादून से 220 किमी दूर बागेश्वर के जखनी गांव में सैकड़ों महिलाएं, जिनमें आठ साल की बच्चियां तक शामिल थीं, ने एक जंगल में 500 पेड़ों को गले लगा लिया। उनका कहना था कि वे मर जाएंगी, पर पेड़ नहीं कटने देंगी। यहां बांज ओक और बुरांस जैसे उत्तराखंड … Read more

महान शिक्षक हमेशा प्रेरणादायी होते हैं, जिनमें सकारात्मक रवैये के साथ एक अच्छा इंसान भी होता है

Funda by N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु यूके के एक स्कूल से रिटायर होने के बाद जिओलॉजी के शिक्षक बॉब एलिसन (68) चीन के यांगझू शहर में नौकरी करने लगे। इस साल 4 जनवरी को उन्हें स्ट्रोक आया, जिससे उनका दायां हिस्सा आंशिक लकवाग्रस्त हो गया। डॉक्टरों को डर है कि एलिसन को एक और स्ट्रोक आ सकता … Read more

अच्छी नींद जिंदगी का आधारभूत नियम, जो जिंदगी बेहतर बनाती है, एक दिन की बात नहीं है; सालभर का काम

Management Funda by N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु गुरुवार की रात भारत-इंग्लैंड का चौथा टी20 मैच देखते हुए मेरा घर दो टीमों में बंट गया। बहस उस ‘सॉफ्ट सिग्नल’ पर थी, जो फील्ड पर मौजूद अंपायर केएन अनंतपद्मानाभन ने दिया था, जब सूर्यकुमार यादव का शानदार शॉट उड़कर डीप फाइन-लेग पर डेविड मलान तक पहुंचा, जिन्होंने विवादास्पद कैच लिया। अनंतपद्मानाभन … Read more

अगर यात्रा नहीं कर सकते, तो चिंतित न हों; सामाजिक दायरे को सींचते रहें क्योंकि रिश्ते ही आपको जीवन में खुश रखेंगे

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु आ ज रविवार को हम अपने पहले लॉकडाउन का एक साल पूरा कर रहे हैं, संयोग से वह भी जनता कर्फ्यू के रूप में रविवार को ही लगाया गया था। तबसे हमने छुटि्टयों पर जाने की जैसी योजना बनाई थी, असल में वैसा हो ही नहीं पाया। कितनी बार आपके और … Read more

उद्यमशील समाज का हिस्सा बनें, छोटे-छोटे ‘गिग’ बिजनेस शुरू करते रहें, पता नहीं कब, कौन-सा मुश्किल वक्त में काम आ जाए

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु ठीक एक साल पहले 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दौरान हम सभी घरों में रहे थे और उस दिन हमने अपने परिवार के सदस्यों के साथ का आनंद लिया था। लेकिन ज्यादातर लोगों को अंदाजा नहीं था कि यह तो बुरे दिनों की शुरुआत भर थी। जैसे-जैसे दिन बीते और … Read more

हिंसा को प्रोत्साहित न करें, लेकिन अपने लोकतांत्रिक अधिकारों के लिए लड़ना और आवाज उठना बहुत जरूरी

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु तीन भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों, भगत सिंह, सुखदेव थापर और शिवराम राजगुरु को 91 साल पहले 23 मार्च को अंग्रेजों ने लाहौर में फांसी पर चढ़ा दिया था। भगत सिंह की 71 वर्षीय भांजी गुरजीत कौर ने शहीद दिवस पर कहा, ‘भगत सिंह हमेशा अपने लिए पहल करने में विश्वास रखते थे। … Read more

जिंदगी में तृप्ति और ठहराव जैसा कुछ नहीं होता; यह खुले कोष्ठकों की तरह है, जितना चाहें, भरते जाएं

Funda by N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु इस मंगलवार मैं मध्य प्रदेश के मंदिरों के शहर उज्जैन से गुजर रहा था। मैंने वहां सड़क पर एक बुजुर्ग व्यक्ति (करीब 80 वर्षीय) को देखा, जिनके मुंह में नीम की दातुन थी और उनके दोनों हाथ फोन पर व्यस्त थे। वे उसमें कॉलेज के उस युवा लड़के ही तरह डूबे … Read more

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के सही इस्तेमाल से करिअर में मिल सकती है अच्छी स्थिरता

German Shepherd Dog

अगर आपकी रुचि टेक्नोलॉजी, खासतौर पर आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) में है तो यह उदाहरण आपके लिए है। ग्वालियर की बीएसएफ एकेडमी के नेशनल डॉग ट्रेनिंग सेंटर से टिंकी नाम की जर्मन शेफर्ड को मुजफ्फरनगर में कॉन्सटेबल के पद पर नियुक्त किया गया था। सूंघने की उसकी शानदार क्षमता के कारण उसे 6 साल में 6 … Read more

जब बात जिंदगी की गुणवत्ता और स्तर की होगी, तो हर घर में मतभेद तो होंगे ही

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु हर पीढ़ी कुछ हासिल करती है। हमारे माता-पिता ने हमें मूलभूत सुविधाएं देने और हमारी अच्छी सेहत सुनिश्चित करने के लिए मेहनत की। फिर जब हमारी पीढ़ी को जिम्मेदारी मिली तो हमने खुद को और माता-पिता को सहूलियतें देने के लिए सुविधाएं और सामान जोड़े। लेकिन अब हमारे बच्चे न सिर्फ … Read more

महिलाएं सिर्फ सीमा पर सेना का पेट भरने और चुनाव जिताने का काम नहीं करतीं, बल्कि आतंकवाद से लड़ने के लिए हथियार भी उठा सकती हैं

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु सोमवार को आए आम बजट में महिला सशक्तिकरण से जुड़े कुछ प्रावधान भी किए गए। उल्लेखनीय कदम यह है कि महिलाएं अब नाइट-शिफ्ट समेत किसी भी शिफ्ट में काम कर सकेंगी। इसके लिए सुरक्षा संबंधी खास कदम उठाए जाएंगे। महिला सशक्तिकरण से जुड़े इस कदम से मुझे हाल ही में वायरल … Read more

जब छोटे लोग और जगहों की सुशासन में देखभाल की जाती है, तो समाज को इससे अनदेखे बड़े लाभ मिलते हैं

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु केरल की मीनाचिल नदी की सहायक नदियों कैपुझा और पेन्नार तथा वेंबनाड झील के किनारों पर लोगों के लिए 72 वर्षीय राजप्पन उर्फ राजू का चेहरा जाना-पहचाना है। ऐसा इसलिए क्योंकि दिव्यांग राजू के दोनों पैर जन्म जात लकवाग्रस्त हैं, फिर भी बीते 15 वर्षों में उन्होंने एक भी दिन अपना … Read more

हमें विकास और सुविधाओं में विश्वास होना चाहिए और उनमें भविष्य की सोच भी हो

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु हम जानते हैं कि इंटरनेट कनेक्टिविटी की कमी के कारण कई दूरदराज के गांवों को स्वास्थ्य, दूरसंचार, सरकारी सप्लाई योजना आदि सेवाओं का लाभ नहीं मिलता। कोरोना के दौरान वर्क फ्रॉम होने (डब्ल्यूएफएच) होने के बावजूद ज्यादातर शहरी आईटी वर्कर अपने गांव नहीं गए क्योंकि वहां इंटरनेट स्पीड कम होने के … Read more

अच्छी सेहत और लंबी उम्र के लिए कभी काम करना बंद न करें, भले ही आप नौकरी से रिटायर हो जाएं

Jugad krishi yantra

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु वे सूरज ऊगने से पहले, करीब 4 बजे उठ जाती हैं। फिर नीम की दातुन से ब्रश करती हैं क्योंकि वे मानती हैं कि उनके शरीर के लिए इस्तेमाल होने वाली किसी चीज में केमिकल नहीं होने चाहिए। साबुन की जगह वे शरीर को पत्थरों से घिसकर नहाती हैं। वर्षों से … Read more

बच्चों में भावनात्मक और रचनात्मक गुण विकसित कर, उन्हें भविष्य की दुनिया के लिए तैयार होने में करें मदद

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु पिछले महीने 6 वर्षीय टेरेसा मनिमाला वायरल हस्ती बन गई, जब सोते वक्त कहानी सुनने का उसका रुटीन लैंगिक भेदभाव और असमानता के खिलाफ आवाज उठाने का जरिया बन गया। टेरेसा ने अपनी मां सोनिया जॉन से सोते समय कहानी सुनते हुए पूछा कि किताबों में इतनी लैंगिक असमानता क्यों है। … Read more

जब आपके पास खोने को कुछ नहीं होता और आप लड़ाई में अपना सर्वश्रेष्ठ देते हैं, तो जीत की संभावना हमेशा बहुत ज्यादा होती है

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु नवकेतन फिल्म्स के बैनर तले बनी ढेरों फिल्मों को देखें, तो फ्लॉप की संख्या व्यावसायिक रूप से सफल फिल्मों से कहीं ज्यादा है। इस आधार पर तो देव आनंद को फिल्में बनाना बहुत पहले बंद कर देना चाहिए था। उनमें खुद को और नए कलाकारों को फिल्मों में रखकर निर्माण लागत … Read more

अगर हम चाहते हैं कि हमारी अगली पीढ़ी औपचारिक रूप से शिक्षित न होकर उच्च स्तर पर शिक्षित हो, तो इसकी जिम्मेदारी केवल स्कूल नहीं संभाल सकते

N. Raghuraman

किसी से भी पूछिए कि देश का सबसे साक्षर राज्य कौन-सा है और पलक झपकते ही जवाब मिलेगा, केरल। लेकिन ज्यादातर लोगों को यह नहीं पता होगा कि वे ऐसा क्या करते हैं, जो हम नहीं कर सकते। उनका सुदृढ़ विश्वास है कि स्कूल और कॉलेज अकेले हमारे बच्चों को औपचारिक शिक्षा नहीं दे सकते। … Read more

बच्चों को सिर्फ एक मौके की जरूरत है और फिर खुद देखें कैसे वे सफल-प्रेरणास्पद कहानियों की इबारत लिखते हैं

पिछले साल इस दिन हममें से अधिकांश लोग कोविड के परिणामों से अनजान थे। पर आज हमें मालूम है कि कोविड और इसके चलते लगे लॉकडाउन के बाद अधिकांश घरों में बालिकाएं सबसे ज्यादा प्रभावित हुईं। उन्होंने ना सिर्फ घरेलू काम किए, बल्कि भाइयों की खातिर अपनी पढ़ाई से भी समझौता किया। आज जब भारत … Read more

2021 में हमने जिंदगी जीने का नया ‘संविधान’ तैयार कर जीवनशैली को नए स्तर पर पहुंचा दिया है

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु ज नवरी 26, 1950 को भारत का संविधान अस्तित्व में आया। इसने भारत को चलाने वाले दस्तावेज ‘भारत सरकार अधिनियम 1935’ की जगह ली और हमारा देश एक नया गणतंत्र बना। अब 2021 में आकर जब हम मुश्किल में बीते 10 महीने को पीछे मुड़कर देखते हैं, तो पाते हैं कि … Read more

आप किसी को जो भी गिफ्ट दें, यदि उसमें किसी समस्या का समाधान है तो उपहार का मोल लाखों गुना बढ़ जाता है

Diwali Gift

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु हम सभी अपने करीबियों और अपने ग्राहकों को त्योहारों के दौरान गिफ्ट हैंपर (उपहार) देते हैं। मेरे जैसे दक्षिण भारतीयों के लिए उपहार देने की प्रक्रिया जनवरी मध्य से ही शुरू हो जाती है, जब हम ‘पोंगल’ मनाते हैं, जो दक्षिण में फसल की कटाई का बड़ा त्योहार है। अमीर और … Read more

अब फैसला लेने का समय आ गया है कि हम हमारे दादा-दादी, नाना-नानी की भोजन की आदतें अपनाएं

funda

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु ‘जो थाली में है वही खाना पड़ेगा।’ मैं यह कथन कभी नहीं भूल पाऊंगा क्योंकि बड़े होते हुए मैंने यह हर जगह सुना। फिर वह मेरा घर हो या नाना-नानी, दादा-दादी का। हमें सुबह 7.30 बजे ब्रेकफास्ट, दोपहर 12.30 बजे लंच और शाम 5.30 बजे डिनर मिलता था और फिर रसोई … Read more

अगर हम नेतृत्वकर्ता हैं, तो हमें कुछ निजी पसंद त्यागनी होंगी और प्रोटोकॉल का पालन करना होगा

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु। इस शनिवार क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने घोषणा की कि वह भारतीय बोर्ड के साथ जांच करेगा कि क्या पांच भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों ने नए साल की शाम बायो बबल सुरक्षा प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया। इस घोषणा का 7 जनवरी से सिडनी में शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट में भारत की योजना पर … Read more

वैदिक ज्ञान पढ़ने से ज्ञानवर्धन के साथ-साथ विषय की गहराई में जाने और विशेषज्ञ बनने में मदद मिलती है

Funda by N. Raghuraman

एन. रघुरामन मैनेजमेंट गुरु। आज ‘पश्चिमी’ ज्ञान के अलावा शायद ही किसी ज्ञान को खोजने लायक समझा जाता है। यह दु:खद है कि पढ़े-लिखे लोग यही सोचते हैं और मुझे यह कहने में शर्म नहीं है कि मैं भी उनमें से ही था। लेकिन हमारी वैज्ञानिक विरासत के बारे में मेरी गलतफहमी जल्द दूर हो … Read more

बेशक सेलिब्रिटीज को पसंद किया जाता है, लेकिन याद रखें कि लोग चाहते हैं कि सेलिब्रिटी अपनी बात पर कायम रहें

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु ऑटोमेशन देश-दुनिया में दशकों से हो रहा है। बी. आर. चोपड़ा निर्देशित फिल्म ‘नया दौर’ में दिखाया गया था कि कैसे ऑटोमेशन से नौकरियां जाती हैं। फिल्म के नायक दिलीप कुमार ने तांगा वाला का किरदार निभाया। गांव में जमीदार के लड़के ने परिवहन के लिए तांगे के विकल्प के रूप … Read more

अगर आप तकनीक में निपुण हैं और नई भूमिकाएं जोड़ने को तैयार हैं, तो 2021 में आपको नए पदनाम मिल सकते हैं

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु वे दिन गए जब बच्चे ट्यूशन टीचर की मदद लेते थे। वे अब अपने ट्यूशन टीचर को ‘प्रोडक्टिविटी फ्रेंड्स’ (उत्पादकता मित्र) कहेंगे। इसे यह समझकर नकार मत दीजिएगा कि यह एक सजावटी नाम वाला बदलाव है। पूरा खेल, मेरा मतलब इन नए पदनाम वाले पेशेवरों का काम करने का तरीका बदल … Read more

तलाक के बढ़ते मामलों के बीच हमारे लिए फैसला लेने का समय आ गया है कि क्या हमें शादी के कोर्स की जरूरत है या नहीं

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु सोमवार की रात मैं पत्नी के साथ एक वकील मित्र के घर लगभग दो साल बाद डिनर के लिए गया था। हम जैसे ही अंदर गए, पड़ोसियों ने झांककर देखा कि हम कौन थे। मुंबई में आमतौर पर ऐसा नहीं होता। मैंने कभी इस शहर को पड़ोसियों के मेहमानों की परवाह … Read more

जरूरतों और चाहतों के बीच के अंतर को सिर्फ कॉर्पोरेट ही नहीं समझे हैं, बल्कि बुजुर्ग भी कॉर्पोरेट के रास्ते पर चल पड़े हैं

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु साल 2020 कई लोगों के लिए मुश्किल रहा है। कॉर्पोरेट से लेकर आम लोगों तक को बाधाओं का सामना करना पड़ा। लेकिन अगर इस साल को अलग नजरिए से देखें तो पाएंगे कि इसने अर्थशास्त्र के कई सबक सिखाए हैं, जिनका संबंध ‘जरूरत’ और ‘चाहत’ जैसे सामाजिक विज्ञान से है। ‘जरूरतें’ … Read more

कभी-कभी खुद को सांता क्लॉज की टीम का सदस्य मानें और जान-पहचान वालों या अनजान लोगों की विशलिस्ट पता करें

Diwali Gift

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु जब मेरी बेटी छोटी थी तो ऐसा कोई साल नहीं गुजरता था, जब मैं उसके बिस्तर के पास लटके लाल मोज़े में कोई सरप्राइज गिफ्ट न रखूं। मैं उसके उन नियमित सवालों का जवाब नहीं दे पाता था जो इसके इर्द-गिर्द होते थे कि ‘क्या सांता असली है?’ मैं उसे ऐसी … Read more

‘मां की पाठशाला’ मॉडल ही सही मायनों में आत्मनिर्भर भारत की पहचान है

Funda by N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु क्या आपने कभी कल्पना की है कि गांव की एक गरीब मां आईएएस कैडर के किसी सरकारी अधिकारी को उसके निजी मोबाइल पर फोन कर कह सकती है कि ‘मैं फलां गांव से बोल रही हूं, हमारे बच्चे खेल-खेलकर थक चुके हैं, अब वे कुछ समय पढ़ना चाहते हैं, क्या आप … Read more

प्रेम की गुणवत्ता इस दुनिया की किसी भी चीज को परास्त कर सकती है

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु इस हफ्ते मेरी एक फ्लाइट के दौरान, एक दो वर्षीय बच्ची बिजनेस क्लास में अपनी मां की गोद में बैठी थी। एविएशन की भाषा में ये शिशु कहलाते हैं और इन्हें सीट नहीं मिलती। जब उसकी मां को उसका और बच्ची का खाना परोसा गया, बच्ची बर्तनों से खेलती रही लेकिन … Read more

जब आप दूसरों की दौलत पर नजर नहीं डालते, तब एक प्राकृतिक न्याय होता है, जो आपको वह सबकुछ देता है, जिसे पाने का आपने सपना देखा था।

N. Raghuraman

नवंबर की एक सुबह, हमारी मराठी विंग ‘दिव्य मराठी’ के सहकर्मी जय प्रकाश पवार, अभिजीत कुलकर्णी और पीयूष नाशीकर, अपने दोस्त अमित कुलकर्णी के साथ किसी काम से नासिक से मुबंई जा रहे थे। रास्ते में वे नाश्ते के लिए होटल डायमंड फूडवे पर रुके। बिल चुकाने के दौरान सभी पैसे देने आगे आए। अंत … Read more

अगर आप चाहते हैं कि बच्चों का ‘ई-क्लास’ में एक घंटे तक ध्यान न भटके, तो शुरुआत के 5-7 मिनट ‘शुगर क्लास’ पर खर्च करें

वह पांचवीं कक्षा में है और महज 11 साल की है, पुणे में रहती है। चूंकि कोविड के कारण स्कूल में कक्षाएं नहीं लग रही थीं, इसलिए वह माता-पिता के साथ महाराष्ट्र के भिवंडी में भोकारी गांव स्थित उनके गन्नों के खेत चली गई। उसने जब 14 एकड़ में फैले खेत में दिनभर प्रवासी कामगार … Read more

निःसंदेह किसी के चेहरे पर मुस्कान लाना सफलता की ओर पहला कदम है

N. Raghuraman

इस शुक्रवार की सुबह मैं भारतीय-अमेरिकी मूल की प्रतिभाशाली युवा वैज्ञानिक और आविष्कारक गीतांजलि राव को सुन रहा था। उसे टाइम मैग्जीन ने अभी तक की पहली ‘किड ऑफ द ईयर’ घोषित किया है। वह ‘तकनीक का इस्तेमाल कर दूषित पेयजल से लेकर अफीम की लत और साइबर बुलीइंग जैसे मुद्दों पर आश्यर्चजनक काम’ के … Read more

2021 में ज्यादातर खर्च करने वाले लोग सोशलाइजिंग पसंद करेंगेे, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग रखकर!

Funda by N. Raghuraman

बिल्कुल को छोड़कर कोई भी आम लोगों को प्रभावित नहीं कर सका। इसे प्रिंट की गलती ना समझें। नहीं ऐसा नहीं है। मैं एक व्यक्ति की बात कर रहा हूं, जिसका नाम बिल्कुल है और इस सप्ताह केरल में हुए स्थानीय निकाय चुनाव में अलपुझा में मामूली मतों से जीता। यहां चुनाव लड़ने वाले कुछ … Read more

2021 में लोग जो भी अनुभव करेंगे, जो भी पाएंगे, उसमें ‘गुणवत्ता’ तलाशेंगे, यहां तक कि परोपकार करने में भी

Management Funda By N. Raghuraman इस सोमवार मैं भोपाल-इंदौर हाइवे पर सफर कर रहा था और रास्ते में वॉशरूम इस्तेमाल करने के लिए एक रिट्रीट (होटल) पर रुका। साथ में सफर कर रही एक युवा छात्रा शिवानी रास्ते में रिट्रीट के सार्वजनिक शौचालय में भूलवश अपना मोबाइल छोड़ आई थी। सफर के लगभग 50 किमी … Read more

भारत को धरती का सबसे खूबसूरत देश बनाने के लिए शहरी और ग्रामीण भारत को अपने सर्वोच्च गुण एक-दूसरे को सिखाने चाहिए

N. Raghuraman

इस सप्ताहांत जब मैं नई दिल्ली के टी2 एयरपोर्ट पर था, मेरे पास काफी समय बचा था क्योंकि मेरी फ्लाइट लेट हो गई थी। आमतौर पर मैं देरी से परेशान नहीं होता। एयरपोर्ट की सभी औपचारिकताएं खत्म कर मैं क्रेडिट कार्ड कंपनियों द्वारा चलाए जाने वाले लाउंज में पनाह ले लेता हूं। टी2 एयरपोर्ट पास … Read more

बड़े शहर वो नहीं सिखा पाते, जो फावड़ा उठाने वाले किसान सिखाते हैं

Management Funda by N. Raghuraman बुजुर्गों की हेल्पलाइन (1090) के परामर्शदाताओं के मुताबिक, मार्च से नवंबर 2020 के बीच उन्हें 209 आपात फोन आए, जिसमें बुजुर्गों के साथ शारीरिक और मौखिक हिंसा की शिकायतें आईं। केवल बेंगलुरू में ही बुजुर्गों को अकेला छोड़ देने के 40 मामले आए, जहां सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे आईटी पेशेवर रहते … Read more

अपने एक विचार को खुलकर घूमने के लिए दिमाग को कंजेशन से दूर और ट्रैफिक फ्री रखें और तब खुद इसकी ताकत देखें

N. Raghuraman

दक्षिण दिल्ली में देवी काली को समर्पित कालकाजी मंदिर है। माना जाता है कि यह महाभारत काल से है। आमतौर पर मैं जब भी इस तरह के प्राचीन मंदिर जाता हूं, तो दिमाग में आने वाले कई सारे कंजेशन (उलझनों) से बचने के लिए योजना बहुत पहले से बना लेता हूं। यहां उलझनों से मेरा … Read more

हवाईयात्रा निश्चित रूप से सुरक्षित है, अगर आप अपनी यात्रा की शुरुआत से लेकर मंजिल तक पहुंचने से जुड़े हर कार्य में विज्ञान की समझ को लागू करते हैं

Funda by N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु सात मार्च 2020 के बाद 7 दिसंबर को यह मेरी पहली हवाईयात्रा थी। लॉकडाउन खुलने के बाद से मेरी सभी यात्राएं कार से हुईं, फिर वे कितनी ही मुश्किल रही हों। मैं रोजाना कम से कम 400 किमी सफर करता था। लेकिन सोमवार को मैनेजमेंट के दृष्टिकोण से किसान आंदोलन देखने … Read more

शहर वो नहीं सिखा पाते, जो फावड़ा उठाने वाले किसान सिखाते हैं

Vegetable

बुजुर्गों की हेल्पलाइन (1090) के परामर्शदाताओं के मुताबिक, मार्च से नवंबर 2020 के बीच उन्हें 209 आपात फोन आए, जिसमें बुजुर्गों के साथ शारीरिक और मौखिक हिंसा की शिकायतें आईं। केवल बेंगलुरू में ही बुजुर्गों को अकेला छोड़ देने के 40 मामले आए, जहां सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे आईटी पेशेवर रहते हैं। ये सिर्फ दर्ज मामले … Read more

जब प्रेम और परवाह, दौलत, उम्र और परिस्थिति नहीं देखते हैं, तो अंतत: वे न सिर्फ इंसानों का बल्कि पुलिसवालों और कोर्ट का दिल भी जीत लेते हैं

Funda by N. Raghuraman

Management Funda by N. Raghuraman वे सहानुभूति और प्रेम नहीं दिखा सकते। क्योंकि लोन रिकवरी एजेंट के लिए यह ठीक नहीं है। लेकिन 43 वर्षीय एरिक राजू जॉनसन ने इससे विपरीत किया। उन्होंने कई ग्राहकों की दयनीय माली हालत देखी, तो मानवीय आधार पर महामारी के दौरान कर्ज वसूली के सख्त तरीके नहीं अपनाए। एरिक … Read more

2021 हर तरह के व्यापार को फिर से स्थापित करने का साल होगा, पर याद रखें कि दिमाग में पहले डिजिटल मानसिकता रखने से ही यह मुमकिन होगा

इस साल जनवरी में आईटी क्षेत्र में काम करने वाले प्रबंधन विशेषज्ञों ने खुदरा उद्योग की ऑनलाइन बिक्री में 6.7% वृद्धि का अनुमान लगाया था। पर महामारी के चलते 5 साल की वृद्धि चंद महीनों में हासिल हो गई। कुछ अनुमानों के मुताबिक, उपकरणों समेत घरेलू उत्पाद 70% की दर से बढ़े। इलेक्ट्रिकल इंडस्ट्री में … Read more

आप सुपरमैन तब बनते हैं, जब आप सफलता के चरम पर हों और वापस नीचे जाकर बाकी लोगों को भी सफलता तक पहुंचने में मदद करने का फैसला लेते हैं

Funda by N. Raghuraman

Management Funda by N. Raghuraman कुछ सुपरमैन एक तकनीक बनाकर कभी खुद उससे अकेले नहीं उड़ते। वे गोशाला जैसी जगह से भी कई गरीबों की तकनीक की मदद से उड़ने में मदद कर सकते हैं। हमारे देश में ऐसे कई सुपरमैन हैं, जिन्हें मैं जानता हूं और उनमें से एक को इस गुरुवार वैश्विक पुरस्कार … Read more

अगर आप लोगों की जिंदगी आसान बनाने को तैयार हैं, तो हमेशा एक कामयाब बिजनेस का अवसर मौजूद है

आभासी रूप से हम लगभग रोज ही खाना पकाते समय रसोई में उनसे मिलते हैं। जी हां, सब्जी से लेकर राजमा, शाही पनीर, दाल मखानी तक, हम जो भी व्यंजन पकाएं, उसके लिए हम रसोई की अलमारी से एक छोटा-सा पैकेट निकालते हैं। मसालों के पैकेट पर शानदार लाल पगड़ी और सफेद शेरवानी पहने हुए, … Read more

काम के हर क्षेत्र में सुधार करते हुए किसी भी लक्ष्य को पाते हैं, लेकिन इतना तय है कि हम में से कई लोग ‘डिजिटल डाइट’ को 2021 के लिए अपना लक्ष्य बनाएंगे

N. Raghuraman

Management Funda by N. Raghuraman हमेशा प्रेरित कैसे बने रहें? मैंने इस सवाल का सामना कई बार किया है। मेरे सार्वजनिक संबोधन या प्रशिक्षण कार्यक्रम में कोई न कोई खड़ा होगा और पूछेगा, ‘सर, मैं आपकी बात समझ गया और अभी बहुत प्रेरित महसूस कर रहा हूं। लेकिन मेरी समस्या यह है कि आपको या … Read more

युवा अगर 2022-23 के बाद बेहतर वेतन वाली नौकरी तलाशना चाहते हैं, तो याद रखें कि ये रिटेल सेक्टर में छिपी है

Funda by N. Raghuraman

Management Funda by N. Raghuraman पिछले महीने अमेरिका की बड़ी सुपरमार्केट कंपनी वालमार्ट ने कुछ चीजें बंद कर दीं। कई वर्षों तक स्टॉक की ट्रैकिंग के लिए रोबोट समेत कई ऑटोमेटेड तकनीकों पर प्रयोग के बाद वालमार्ट ने तय किया है कि वास्तव में लोग ही बेहतर काम करते हैं। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की 2013 की … Read more

किसी की जिंदगी में अंतर लाने के लिए बस थोड़ा-सा हटकर कुछ करके देखिए, आप कई दिल जीत लेंगे

ज्यादातर लोग हमारे देश में विस्तृत रेल नेटवर्क बनाने का श्रेय अंग्रेजों को देते हैं, लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि तत्कालीन शासकों ने कभी वहां रेलवे नेटवर्क नहीं बनाया, जहां संबंधित राजा मजबूत थे। उदाहरण के लिए कोंकण बेल्ट, जहां शिवाजी और उनका वंश मजबूत प्रतिद्वंद्वी थे या कर्नाटक और तमिलनाडु के कुछ … Read more

मौजूदा वायरस फेफड़ों को प्रभावित कर रहा है, यह हमारी जिम्मेदारी है कि फेफड़ों पर दूसरे बाहरी कारकों का दबाव डालकर इसे और कमजोर ना करें

funda

Management Funda by N. Raghuraman जब तक कोरोना की दूसरी लहर के बारे में स्पष्टता नहीं हो जाती, कई लोगों के लिए दिसंबर तक घर से बाहर निकलना थोड़ा मुश्किल लगता है। इसके साथ ही सर्दी भी धीरे-धीरे असर डालना शुरू कर रही है। लेकिन घरेलू खतरनाक चीज़ों का ध्यान रखें, ये आपके फेफड़ों पर … Read more

यह हमारी जिम्मेदारी है कि इस साल फेफड़ों पर दूसरे बाहरी कारकों का दबाव डालकर इसे और कमजोर ना करें

Funda by N. Raghuraman

Management funda by N. Raghuraman जब तक कोरोना की दूसरी लहर के बारे में स्पष्टता नहीं हो जाती, कई लोगों के लिए दिसंबर तक घर से बाहर निकलना थोड़ा मुश्किल लगता है। इसके साथ ही सर्दी भी धीरे-धीरे असर डालना शुरू कर रही है। लेकिन घरेलू खतरनाक चीज़ों का ध्यान रखें, ये आपके फेफड़ों पर … Read more

तुरंत मिल रहे आराम के फेर में न पड़ें और दूर के पहलुओं को भी ध्यान में रखें

N. Raghuraman

Management Funda by N. Raghuraman इस शुक्रवार की सुबह साउथ मुंबई में जब मैं पार्किंग के लिए जगह देख रहा था, बगल में बैठी मेरी बेटी ने एक तरफ इशारा किया, जहां दो कारें खड़ी करने की जगह थी। मैंने उसे नजरअंदाज किया और केवल एक कार के लिए उपलब्ध जगह चुनी, लेकिन यह सुनिश्चित … Read more

जीवन कीमती है और हमें उसका ज्यादा से ज्यादा ख्याल रखना चाहिए क्योंकि ज़िंदगी है तो सब कुछ है

Maradona

जैसे किसी भी बच्चे को ज़िंदगी में अपना पहला कदम उठाने में परेशानी होती है, उन्हें भी हुई होगी, लेकिन उनके आसापास के सभी लोगों, उनके माता-पिता और चार बड़े भाई-बहनों को तब वह लड़खड़ाता कदम देख खुशी हुई होगी। लेकिन यह 1961 के मध्य की बात है, जब वे 10 या 11 महीने के … Read more

गर्व होने और घमंड होने के बीच एक बारीक रेखा है। शायद यही कारण है कि कोई मजबूत होने की जगह बदमिजाज हो जाता है

Funda by N. Raghuraman

Management Funda by N. Raghuraman वह सिर्फ 16 साल की, स्कूल जाने वाली बच्ची है। लेकिन सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म्स पर उसे जितने लोग फॉलो करते हैं, उनकी संख्या ऑस्ट्रेलिया, मोरक्को और अफगानिस्तान की कुल आबादी से भी ज्यादा है। मैंने लॉकडाउन से कुछ महीने पहले उसके बारे में अपनी बहन से सुना था, जो अमेरिका … Read more

ईश्वर और किसी कंपनी के मालिक का पद कभी नहीं बदलता, लेकिन कामकाजी पेशेवर का पद निश्चित नहीं होता

video editing

Management Funda by N. Raghuraman दीपावली के हफ्ते के दौरान मुझे एक वीडियो एडिटर का मेल मिला, जिसकी लॉकडाउन के दौरान नौकरी चली गई थी और जो किसी तरह स्थिति का सामना कर रहा था, पर कुछ फ्रीलांस काम पाने के लिए मार्गदर्शन चाहता था। उसे जवाब देने की जगह, मैं अपनी बालकनी में आया … Read more

अगर आप अलग हैं और दूसरों को प्रेरित करते हैं, तो कोई इसकी परवाह नहीं करता कि आपकी पृष्ठभूमि क्या है

Management Funda by N. Raghuraman हाल ही में उद्योगपति रतन टाटा की ऑनलाइन पोस्ट की तस्वीर वायरल हुई जिसमें वे गोद लिए गए ‘गोवा’ नाम के आवारा कुत्ते के साथ ऑफिस कैम्पस में खेलते दिख रहे थे। उन्हें सीमेंट की सीढ़ियों पर कुत्तों के साथ देखा जा सकता है, जहां उनके गार्ड खड़े होते हैं। … Read more

जब भी किसी को शिक्षित करने का मौका मिले, तो उसकी शिक्षा पाने में मदद जरूर करें, क्योंकि इससे आप पूरे परिवार को और कभी-कभी पूरे मोहल्ले को शिक्षित करते हैं

left hand writes

Management Funda by N. Raghuraman इस गुरुवार, अन्य छात्रों की तरह जी. सहाना ने भी तमिलनाडु के त्रिची में केएपीवी गवर्नमेंट मेडीकल कॉलेज से अपना एमबीबीएस एडमिशन कार्ड लिया। लेकिन इस 18 वर्षीय लड़की के लिए यह सिर्फ उसके परिवार का गरीबी के साथ संघर्ष का नतीजा नहीं था, बल्कि यह 2018 में गाजा चक्रवात … Read more

दशकों से हम जिन व्यापार के आदी रहे हैं, 2021 के बिज़नेस आइडिया उनसे बिल्कुल अलग और विचित्र होने जा रहे हैं

Management Funda by N. Raghuraman हममें से कई लोग अभी तक इस पर बहस कर रहे हैं कि 4 साल के बच्चे का टेस्ट हो या नहीं। इसके बावजूद कुछ स्कूल हैं, जो 4 साल के बच्चे के आने वाले 10-12 साल की पढ़ाई के दौरान संभावनाओं पर भविष्यवाणी कर रहे हैं। इनसे जड़ी कई … Read more

नियम बनाते समय उनके उपयोग और दुरुपयोग का आंकलन भी करना जरूरी है क्योंकि बाज़ की नज़र रखने वाले लोग मौका नहीं चूकते

Funda by N. Raghuraman

Management Funda by N. Raghuraman नए -नए आज़ाद हुए भारत के सूचना एवं प्रसारण मंत्री बी.वी. केसकर को 1952 में लगा कि शास्त्रीय संगीत ‘विलुप्त होने की कगार’ पर है, खासतौर पर उत्तर भारत में। स्वयं भारतीय शास्त्रीय संगीत के पुरोधा रहे केसकर मानते थे कि इससे उज्ज्वल भविष्य की ओर बढ़ रहे युवा देश … Read more

ग्रामीण भारत ओटीपी का अभ्यस्त हो रहा है, शहरी भारत पीछे जाकर ओटीएस को अपना रहा है

N. Raghuraman

Management Funda by N. Raghuraman लॉकडाउन के दौरान जब पूरा ग्रामीण और अर्ध-शहरी भारत ऑनलाइन शॉपिंग अभ्यस्त हो रहा था, तब उसे अनजाने में पेमेंट के दौरान मोबाइल पर ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) इस्तेमाल करने की आदत भी पड़ गई। पर दूसरी ओर शहरी भारत ने इसी दौरान ओटीएस अपनाया। सोच रहे हैं यह क्या … Read more

खुलते ही मंदिर जाने के बारे में आपकी क्या राय है?

siddhivinayak

Management Funda by N. Raghuraman यह शायद 30 साल पुरानी कहानी है। उस जमाने में सफल लेबर लॉ विशेषज्ञ जे नारायणनन ने बॉम्बे में ऐसी जगह पर अपना बड़ा फ्लैट 2.5 लाख रुपए में बेचा था, जहां आज ज्यादातर बॉलीवुड स्टार रहते हैं। फ्लैट बेचकर वे परिवार के साथ मद्रास चले गए। इतने वर्षों में … Read more

अगर आप कुशल व्यक्ति हैं या छोटे व्यापार मालिक हैं और निष्क्रिय महसूस कर रहे हैं, तो उछाल पाने के लिए आप तकनीक के बल पर छलांग लगाएं

idli-sambar

Management Funda by N. Raghuraman त्योहार का यह मौसम व्यापार समुदाय के लिए खुशियां लाया है, जो मार्च के बाद से महामारी के कारण हुए नुकसान की कुछ भरपाई कर पाए हैं। जहां व्यापार समुदाय ने राहत की सांस ली है, लॉकडाउन के बाद से आपका और मेरा मन अब भी स्ट्रीट फूड के लिए … Read more

सबसे अधिक वंचित कुछ लोगों की ज़िंदगी भी रोशन करना चाहते हैं तो बस उन्हें जरा-सा बेहतर रास्ते की ओर धकेलें

Management Funda by N. Raghuraman मुझे याद नहीं कि बचपन में मेरे इलाके में किसी बिल्डिंग में कोई चौकीदार होता था, क्योंकि हमें जरूरत ही नहीं पड़ती थी। इसका मतलब यह नहीं है कि तब चोरी या लूट नहीं होती थीं। लेकिन किसी को जरूरत महसूस नहीं होती थी कि एक व्यक्ति को दिन-रात बाहर … Read more

2020 की दीपावली जिम्मेदारी से त्योहार मनाने, उपहार देने का मौका है, आप सभी को सुरक्षित दीपावली की शुभकामनाएं

happy Diwali

Management Funda by N. Raghuraman ‘सर ये ओटीपी बॉम्ब है, अब तक का सबसे सुरक्षित बॉम्ब।’ दुकानदार जोर से बोला। खरीदार ने उसे और समझाने को कहा। दुकानदार बोला, ‘जब आप इसे खरीदते हैं, आपको अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर करना होगा। जब आपके बच्चे पटाखे जलाएंगे तो आपके मोबाइल पर वन टाइम पासवर्ड आएगा। फिर … Read more

ईश्वर भी उनकी मदद करता है, जो खुद की मदद करते हैं, कम से कम मौजूदा धन के प्रबंधन और सुरक्षा के मामले में तो ऐसा ही है

Bank Customer

Management Funda by N. Raghuraman सदियों से धनतेरस मनाने के महत्व को लेकर कई कहानियां रही हैं। और उनमें से एक है कि कैसे लक्ष्मी सोने के भरे कलश और धन के देवता कुबेर के साथ क्षीरसागर से प्रकट हुई थीं। ऐसा माना जाता है कि लक्ष्मी अपने भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करने के लिए … Read more

कम से कम खेल प्रतियोगिताओं में तो बेहतर प्रदर्शन करने के लिए व्यक्ति को कभी अपने भावों को रोकना नहीं चाहिए

Funda by N. Raghuraman

Management Funda by N.Raghuraman इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की शुरुआत से अंत तक, कहीं न कहीं महसूस हो रहा था कि इस बार भी आईपीएल मुंबई इंडियंस (एमआई) ही जीतेगी। फिर वह लीग स्टेज हो, प्लेऑफ या मंगलवार को खेला गया फाइनल। वर्ना आप टीम की उस रणनीति को कैसे समझाएंगे, जिसके तहत उसने दिल्ली … Read more

यह मजबूत विश्वास रखें कि यह महामारी चली जाएगी और दुनिया फिर खूबसूरत होगी

home Chef

Management Funda by N. Raghuraman हम सभी ने पिछले कुछ महीनों में होम शेफ्स (घर पर खाना बनाने के शौकीन) की संख्या में रोचक उछाल देखा। उन्होंने अपने कुकिंग कौशल का इस्तेमाल घर से ही बिजनेस शुरू करने में किया, जिससे न सिर्फ उनकी जरूरतें पूरी हुईं, बल्कि बुरे दौर में उन्होंने खुशी भी फैलाई। … Read more

इस दीपावली ऐसा उपहार दें जो लोगों की जिंदगी में रोशनी फैलाए!

Diwali Gift

Management Funda By N. Raghuraman मुझे ऐसे उपहार लेना बहुत पसंद है, जिन्हें खूबसूरती से पैक किया जाए! यह जानना अच्छा लगता है कि किसी ने समय निकालकर, सोच-समझकर आपका गिफ्ट पैक किया। मुझे गिफ्ट बॉक्स पर लगी, सिल्की रिबन से बनी गांठ के सिरे पकड़कर खोलना भी पसंद है। मैं उपहारों को असली या … Read more

इस Diwali पर हम मिठाई के पैकेट और डिजिटल गिफ्ट कार्ड से परे जाकर कुछ ऐसा करें जो हमारे दिल को भी सुकून दे

Diwali Gift

Management Funda by N. Raghuraman इस शनिवार तक मैं भोपाल में विश्वविद्यालय और स्कूल चलाने वाले सेज ग्रुप के कई अकादमिक सदस्यों के साथ तीन दिन के अनुभवात्मक प्रशिक्षण कार्यक्रम में व्यस्त था। चूंकि हम इस विषय पर 72 घंटों के ‘मैनथन’ पर थे कि ऐसे रास्ते पर कैसे चलें जो अकादमिकों को महज अध्यापक … Read more

जीवन में संकट के समय अपने गोल को बेहतर बनाने की एक कोशिश जरूर करनी चाहिए

एन. रघुरमन

Management Funda by N. Raghuraman वर्तमान कोरोना संकट में मेरे बहुत से जानने वालों ने मान लिया है कि हम इन अकल्पनीय हालातों के अभागे शिकार हैं और अब अपनी महात्वाकांक्षाओं को कम करते हुए हमें अपनी गोल शीट पर फिर से काम करने की जरूरत है। अगर आप भी ऐसा सोचते हैं, तो यहां … Read more

अगर आप अपने माहौल के प्रति जागरूक रहेंगे, तो वास्तव में कई कहानियां देख और सुना सकते हैं क्योंकि हर कहानी में कुछ संदेश छिपा होता है

Book Reading

Management Funda By N. Raghuraman मलयालम या तमिल में ‘ओरु पालत्तिन कदई’ का मतलब होता है ‘एक पुल की कहानी’ और यह किसी अन्य कहानी जैसी ही है। यह युवा इंजीनियर की कहानी है, जिसने रिकॉर्ड समय में रामेश्वरम का पंभन पुल दोबारा बना दिया था, जो 1964 के चक्रवात में लगभग पूरा टूट गया … Read more

अगर आपको कृषि का गहराई से ज्ञान हो, तो यह न सिर्फ इसे अलग बनाता है, बल्कि ज्यादा फायदेमंद व्यापार भी बनाता है

Heeng, Hing

Management Funda by N. Raghuraman कुछ साल पहले मप्र के रतलाम में मेरे सहकर्मी विनोद सिंह ने मुझे अनोखा उपहार दिया था। उन्होंने मुझे असली हींग की पुड़िया दी थी, शायद करीब 10 ग्राम की। लेकिन मेरे भोपाल पहुंचने से पहले मेरी पूरी कार न सिर्फ हींग की खुशबू से भर गई, बल्कि मेरा सिर … Read more

फिल्मी विलेन का भी दिल बड़ा होता है, तभी तो वे बुरी परिस्थितियों में फंसे लोगों की मदद के लिए कदम बढ़ाते हैं

Sonu sood

मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे की मेरी हालिया रोड ट्रिप में मैंने मेरे पीछे एक कार देखी, जिसमें हेडलाइट नहीं थी। अपने रिवर्स मिरर में मैंने देखा कि उसका ड्राइवर मेरी गति से चलने की कोशिश कर रहा था ताकि मेरी कार की हेड और टेल लाइट का फायदा उठा सके। लेकिन अचानक मैंने उस कार के टायर … Read more

किसी को कुछ देना निश्चित रूप से किसी की जिंदगी को मजबूत बनाने की कला है

तीन दिन पहले मेरा इस्त्रीवाला, नंदकिशोर लगभग 8 महीने बाद काम के लिए उत्तर प्रदेश से लौटा है। वह आमतौर पर पिछले 20 साल से रात नौ बजे आकर इस्त्री के लिए कपड़े ले जाता और पिछले दिन के कपड़े लौटा जाता। वह एक डायरी में हिसाब रखता और महीने में एक बार पैसा ले … Read more

बच्चों को जितना संभव हो उतनी परीकथाएं सुनाएं, क्या पता कब कौन-सी कहानी उनके जीवन में काम आ जाए

Dog with Girl

Management Funda by N. Raghuraman हमने ये परी कथा शायद हजारों बार सुनी होगी, जो माना जाता है कि मध्यकालीन जर्मनी के मध्य युग (1250-1500) के दौरान की है। हैंसल और ग्रेटल एक गरीब लकड़हारे के दो बच्चे थे। जब उनके देश में भुखमरी फैली तो लकड़हारे की पत्नी (मूल कहानी में बच्चों की मां … Read more

जब तक ‘मेडिकल वैक्सीन’ नहीं मिल जाती तब तक इम्यूनिटी पाउडर जैसी ‘मेंटल वैक्सीन’ लेना जारी रखें

मेरे एक मित्र ने हाल ही में मुझे एक कार्टून भेजा, जिसमें डॉक्टर एक चिंतित मां को समझा रहे हैं कि ‘आपके बेटे को पीलिया नहीं है, जिसको लेकर आप डर रही हैं, पर यह उसके रोज़ाना के दूध में बहुत ज्यादा हल्दी मिलाने का परिणाम है!’पिछले कुछ महीनों से कई भारतीय घरों में यह … Read more

नौकरी के इंतजार में खाली बैठना और कुछ न करना, असफल होने से ज्यादा खराब है

Blog Image 06

Management Funda by N. Raghuraman अगर आप गूगल पर बंगाल के नदिया जिले के रानाघाट से कोलकाता के बीच की दूरी देखेंगे तो यह 78 किमी दिखाएगा और वहां पहुंचने के लिए करीब तीन घंटे का समय बताएगा। लेकिन थोड़ा पहले रहने के कारण 19 वर्षीय इमरान शेख को यह दूरी 60 किमी पड़ती है। … Read more

पैसे के प्रबंधन का संबंध इससे नहीं है कि आप क्या जानते हैं, बल्कि आपके गुण और व्यवहार से है

Maharshi Valmiki

यूपी सरकार 31 अक्टूबर को वाल्मीकि जयंती मनाएगी। इसके लिए राज्य में मौजूद उन जगहों का सौंदर्यीकरण किया जा रहा है, जिनका उल्लेख वाल्मीकि रामायण में है। जिस तरह विभिन्न संदर्भों में दिखाई दीं हनुमान की अनोखी क्षमताओं, जैसे कुशलता, साहस, व्यावहारिकता और वाकपटुता आदि का वर्णन वाल्मिकी रामायण में है, उसे पढ़ने का अलग आनंद है।

जब लोग आपको किसी खेल, नौकरी या प्रोजेक्ट के लिए नहीं चुनते या कभी किस्मत साथ नहीं देती, तो हार न मानें या बदले की भावना न लाएं

Surya Kumar

Management Funda By N. Raghuraman इस बुधवार उसने करोड़ों क्रिकेट फैन्स और भारतीय चयनकर्ताओं को बता दिया कि जल्द होने वाले ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टूर पर भारत को किसकी कमी खल सकती है। वर्ना आप उस इशारे के क्या मायने निकालेंगे, जो उसने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ मुंबई इंडियंस को जीत दिलाने के लिए मोहम्मद … Read more

किसी समस्या का गंभीरता से हल ढूंढा जाए, तो आपको एक बिजनेस आइडिया मिल सकता है

left hand writes

Management Funda by N. Raghuraman क्या आप पीछे छूट जाते हैं क्योंकि आप राइट-हैंडेड (दायां हाथ इस्तेमाल करने वाले) नहीं हैं? हम सभी ने लेफ्ट-हैंडेड बच्चों को राइट-हैंडेड लोगों की दुनिया में संघर्ष करते देखा है। मैत्री वाढेर की मां उसका बायां हाथ बांधकर, उसे दायें हाथ से खाने को कहती थीं। ऐसा कुछ महीने … Read more

त्योहार का मौसम और बेहतर हो जाएगा, अगर हम स्थानीय आंत्रप्रेन्योर्स को प्रोत्साहित करें

Plant

Management Funda By N. Raghuraman सड़क किनारे ठेलों-गुमटियों पर खाना और रास्ते के स्वादिष्ट व्यंजनों का लुत्फ उठाना हम सभी को पसंद था, लेकिन महामारी के बाद से हमने यह सब बंद कर दिया। इससे कई लोगों की आय का स्रोत खत्म हो गया है। हमने अपने घर में काम करने वालों से लेकर ड्राइवर … Read more

बाहर एक शानदार दुनिया है, जो हमेशा गरीबों और वंचितों की मदद करना चाहती है, लेकिन वे चाहते हैं कि मदद उस व्यक्ति तक पहुंचे, जो इसका हकदार है

Hungry Child

Management Funda by N. Raghuraman एक तरफ बहुत से वे युवा हैं जिन्हें जीवन में मार्गदर्शन और सफलता के अवसर की तलाश है, जैसे एशिया की सबसे बड़ी झोपड़-पट्‌टी (स्लम) धारावी में रहने वाला 23 वर्षीय विनायक होसामानी। वहां कई कक्षाओं में कई बार फेल होना आम है, मुख्यत: इसलिए क्योंकि वे पहली बार स्कूल … Read more

‘रावण’ और देवी दोनों हमारे अंदर, एक को मारना और दूसरे को चुनना हमारे ही हाथ में

केला banana

वह 10वीं तक ही पढ़ा है। दो दशकों से वह अपनी 30 बीघा जमीन पर खेती कर रहा है। उसे भी मौसम की मार और उत्पादों को बेचने जैसी समस्या थीं। चार साल पहले उसने अपने ‘रावण’ यानी ज्ञान की कमी को मारने का फैसला लिया। उसने जैविक खेती के सेमीनार में शामिल होना और … Read more

‘META’ पद्धति के सही इस्तेमाल से किसी की जान भी बचा सकते हैं

Mumbai META

Management Funda by N. Raghuraman इस सबकी शुरुआत इस गुरुवार रात के 10.35 बजे हुई, जब मुंबई पुलिस को ट्विटर अकाउंट पर एक टिप मिली कि एक महिला अपनी ज़िंदगी खत्म करने जा रही है। 38 वर्षीय यह महिला मुंबई में अकेली रह रही थी और मुंबई पुलिस जानती थी कि इस मामले को सुबह … Read more

बच्चों को खुद से ज्यादा से ज्यादा चीजें करने दें क्योंकि इससे भविष्य में उन्हें उस दुनिया से ढेर सारा पैसा बचाने में मदद मिलेगी

Jugad krishi yantra

व्यावसायिक शोषण से आजादी पाने और गुणवत्तापूर्ण जीवन जीने का एक ही तरीका है, आत्मनिर्भर बनना

Don’t forget to thank your creator for making you a perfect human being physically and extend your kindness to such differently abled people

Handicapped girl

Her morning also starts with an alarm clock screaming and she switches it off like any of us do and oversleep for a while. Her day begins with a cup of tea that she makes herself.

If you want the world to remember you always, then make sure you have at least one belief in life and relate all your actions revolve around it

idli-sambar

‘It is a sin to sell food,’ believed this hotelier! Despite being a hotelier, he never sold rooms, because he had none. But for his survival he and his family always had to sell food. But every time he sold food, he somehow strongly believed that he was accumulating more sin, because his father told … Read more

दिव्यांगजनों का सहयोग करें, साथ ही आपको शारीरिक रूप से परिपूर्ण इंसान बनाने के लिए अपने रचनाकार को धन्यवाद कहना न भूलें

दिव्यांगजनों का सहयोग करें

Management Funda By N. Raghuraman उसकी सुबह भी अलार्म घड़ी के चिल्लाने से शुरू होती है, जिसे वह बंदकर फिर थोड़ी देर सो जाती है, जैसा कि हम सभी करते हैं। उसके दिन की शुरुआत एक कप चाय से होती है, जो वह खुद बनाती है। कुछ देर मोबाइल पर बिताने और फिर मैचिंग बिंदी, … Read more

अगर आप चाहते हैं कि दुनिया आपको हमेशा याद रखे, तो यह सुनिश्चित करें कि आपके पास जीवन में एक ऐसा विश्वास जरूर हो, जिसे ध्यान में रखकर आप सारे कार्य करें

idli-sambar

ये होटलवाले मानते थे कि ‘खाना बेचना पाप है’! होटल चलाने वाला होने के बावजूद उन्होंने कभी कमरे नहीं बेचे, क्योंकि थे ही नहीं। लेकिन अपने और परिवार के भरण-पोषण के लिए उन्हें खाना बेचना पड़ता था। लेकिन जब भी वे खाना बेचते, तो उन्हें लगता कि वे पाप इकट्‌ठा कर रहे हैं क्योंकि उनके पिता ऐसा कहते थे। इसीलिए उन्होंने पाप का बोझ कम करने का तरीका निकाला। इससे उन्हें लगता था कि चित्रगुप्त के साथ हिसाब में मदद मिलेगी, जो हमारे पुराणों के मुताबिक जीवन की बैलेंस शीट बनाने वाले चीफ़ एकाउंटेंट हैं।

Sensitiveness children grows up as kind person

Formers

Management Funda By N. Raghuraman On Monday morning I was depressed. I lost one lemon, three “loukis”, nine brinjals, 23 tomatoes and around 40 chillies. You may be thinking what has happened to me that am counting lost vegetables. That is because they were not vegetables in the fridge but were living vegetables on the … Read more

मार्च के बाद हुए बदलावों को जानें, जिंदगी में उन आदतों को अपनाएं जो कॉर्पोरेट के नए नियमों के मुताबिक हों

Work From

तीन महीने पहले, जबसे उनके साथ ऑनलाइन क्लास और काउंसलिंग शुरू की है, मैंने सबसे बड़ी कमी यह महसूस की, कि उनमें से किसी ने भी एक बार भी कैमरा चालू नहीं रखा। मैं जानता हूं कि उनका ड्रेस सेंस कैजुअल था, वे निजी आदतें भुला चुके थे और मुझे रोजमर्रा के कामों में अनुशासन के बारे में पूछना भी नहीं चाहिए। उनमें से ज्यादातर अपना कम्प्यूटर पर म्यूट रखते थे और कुछ खाते रहते थे, जो मैं नहीं देख सकता था।

अच्छे माहौल में बचपन बिताने वाले बच्चे संवेदनशील और दयालु इंसान बनकर दुनिया को भी खूबसूरत बनाते हैं

Vegetable

Management Funda By N. Raghuraman सोमवार की सुबह मैं उदास था। मैंने एक नींबू, तीन लौकियां, नौ बैंगन, 23 टमाटर और करीब 40 मिर्चियां खो दी थीं। आप सोचेंगे कि यह मुझे क्या हो गया जो मैं खोई हुई सब्जियां गिन रहा हूं। ऐसा इसलिए क्योंकि वे फ्रिज में रखी सब्जियां नहीं थीं बल्कि पौधों … Read more

सपनों को सच करने के लिए हमें मालूम होना चाहिए कि कब टकराना है, कब पीछे हटना या आगे जाना है

Dandiya

किसी को भी यह पता होना चाहिए कि कब कदम आगे बढ़ाना है और कब पीछे खींचना है। यह भी जानना जरूरी है कि कब टक्कर मारनी है और कब किसी के लिए खड़े होना है।

आत्मनिर्भर भारत के लिए हर घर में ‘फूड गुरु’ की जरूरत है, जो कि अपनी आमदनी से रोज के खाने पर बहुत ज्यादा खर्च ना करे, फिर भी स्वास्थ्यवर्धक खाना खाए

VEGETABLE GARDEN

Management Funda by N. Raghuraman एक ओर सिंगालीला नेशनल पार्क के मुहाने पर बसे दो गांव गोरखे और समंदेन के 200 लोग हैं, जहां पहुंचने के लिए अभी भी कोई सड़क मार्ग नहीं है और दार्जीलिंग से तीन घंटे ड्राइव करके रम्मन पॉइंट और फिर वहां से दो घंटे ट्रेकिंग करने के बाद यहां पहुंचा … Read more

ऐसी कोई मशीन नहीं है, जो मानवता के बिल का हिसाब बता पाए

Hungry Child

‘हमारे यहां ऐसी कोई मशीन नहीं है, जो मानवता के बिल का हिसाब बता पाए। भगवान आपका भला करे।’

कभी-कभी, जब आप किसी चीज का त्याग करते हैं तो उसे खोते नहीं हैं, आप बस उसे किसी और को आनंद लेने के लिए दे देते हैं

Soumya Pandey IAS

तीन दिन पहले हम सभी को उप्र के मोदीनगर की सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट सौम्या पांडे के कर्तव्य के प्रति समर्पण के बारे में पता चला। वे बेटी को जन्म देने के 15 दिन बाद ही, बच्ची को गोद में लेकर नौकरी पर लौट आईं।

सिर्फ उच्च शिक्षित होने से ही आम लोगों की मदद करने वाला कोई आविष्कार नहीं किया जा सकता, इसके लिए लोगों के प्रति हमदर्दी और समय जरूरी

मैनेजमेंट फंडा आप शिक्षित न हों, फिर भी किसी चीज की खोज कर सकते हैं! दुनिया को चौंकाने के लिए आपको सिर्फ किसी पीड़ित के प्रति बहुत हमदर्दी और खोज पर काम करने के लिए थोड़े समय की जरूरत है! यकीन मानिए आपको समाधान मिल जाएगा। सातवीं कक्षा में स्कूल छोड़ चुके, गुजरात के जामनगर … Read more

अब मोरल साइंस रोशनी देने के साथ ही, भविष्य की पीढ़ी को रास्ता दिखाने वाली भी बन गई

Blog Image Post 01

Management Funda by N. Raghuraman इस पूरे मंगलवार मैं तनाव में रहा। खासतौर पर इसलिए कि मुझसे ऑनलाइन क्लास लेने वाले मेरे मैनेजमेंट छात्र आमतौर पर ऐसे उत्पादों के आइडिया लाते हैं, जिन्हें पहले न सुना हो। जैसे पानी के नीचे पूरी कॉलोनी बनाना क्योंकि भविष्य में जमीन कम उपबल्ध होगी या इंजेक्शन की जगह … Read more

ईमानदारी न सिर्फ आज का भविष्य, बल्कि कल की एक पूरी पीढ़ी को तैयार करती है; इतिहास ईमानदार लोगों को हमेशा याद रखेगा

Parijat Ke Phool

आज भी कुछ किराना दुकानों पर ऐसे बोर्ड नजर आते हैं जिनपर मोटे-मोटे अक्षरों में लिखा होता है, ‘आज नकद, कल उधार’ या ‘बिका हुआ माल वापस नहीं होगा’। बाकि बोर्ड और इनमें अंतर यह होता है कि इन्हें कभी हटाया नहीं जाता। इसमें कुछ गलत नहीं है। लेकिन समस्या तब होती है जब यही दुकानदार खाने का सामान खरीदते समय थोक विक्रेता से 90 दिन का क्रेडिट (उधारी) मांगता है या दावा करता है कि उसे क्रेडिट पीरियड के दौरान सामान वापस करने की पूरी छूट होगी।

अगर आप जीत हासिल करना चाहते हैं, तो कभी टालें नहीं, इस अति-आत्मविश्वास में न फसें कि आप अंत में सब संभाल लेंगे

आखिरी ओवर की आखिरी गेंद। जीतने के लिए सात रनों की जरूरत। चूंकि यह असंभव है, इसलिए टीम को एक छक्के की जरूरत है, ताकि टाय हो और सुपर ओवर खेलने मिले। इसकी जिम्मेदारी क्रीज पर खड़े किंग्स इलेवन पंजाब के मैक्सवेल पर है। वे बल्ला घुमाते हैं और गेंद हवा में ऊंची जाती है, जैसे छक्का लगने वाला हो। उन दस सेकंड के लिए सभी की सांसें रुक जाती हैं। लेकिन आखिरकार गेंद बाउंड्री से कुछ मिलीमीटर पहले गिर जाती है और चार रन ही मिलते हैं।

लंबे समय तक बने रहने वाले नतीजों के लिए निरंतर अपने योगदान के छोटे-छोटे डोज देते रहें

युवाओं को घास काटना भी सिखाया गया ताकि कोई सूखी घास जलाकर पौधों को नुकसान न पहुंचाए। धीरे-धीरे वे होशियार होते गए। चूंकि पहाड़ी 45 डिग्री के कोण पर है, इसलिए उन्होंने बारिश के पानी को रोककर सिंचाई में इस्तेमाल करने के लिए छोटे-छोटे गड्‌ढे खोदना शुरू किया। एक हिस्से में लगाए गए पौधे जब अपने बल पर बचे रहने लायक हो जाते हैं, तो समूह दूसरे हिस्से में चला जाता है। इसी साल ‘ट्री ऑफ होप चैलेंज’ के बैनर तले समूह ने1200 पौधे लगाए।

Sky or earth, we have the power to give every struggle story an happy ending

Management Funda By N. Raghuraman This Wednesday evening most of us might have heard and witnessed a sparking high drama on the Indian skies, when a baby boy was born aboard a Delhi-Bengaluru IndiGo flight. Assisted by a lady doctor in the aircraft, the IndiGo crew ensured that the extremely rare in-flight delivery ended on … Read more

हम सब इंसानों में वह ताकत है कि संघर्ष भरी हर कहानी को, फिर चाहे वह आसमान पर हो या जमीन के किसी मुश्किल रास्ते पर, उसे सुखद अंत दे सकते हैं

इस बुधवार की शाम को हममें से अधिकांश लोगों ने भारतीय आसमान में हुए एक ‘हाई ड्रामा’ के बारे में सुना या देखा होगा, जब दिल्ली से बेंगलुरु जा रही इंडिगो की फ्लाइट में एक बच्चे का जन्म हुआ। एयरक्राफ्ट में महिला डॉक्टर की मदद से क्रू ने सुनिश्चित किया कि फ्लाइट में होने वाले इस दुर्लभ प्रसव की कहानी का सुखद अंत हो।

If we live with consciousness that the god lives with us every moment and not just in the frames, we generally create a wonderful world around us

Live with consciousness, (sabantha) to sow happiness around Just imagine, you are reading this article and somebody is knocking at your front door. You open and the person says “am Krishna.” You look at the modern dressed man and ask “who Krishan?” He says “same Krishna you pray everyday. I thought let me stay with … Read more

अगर हम इस सजगता के साथ जिएं कि ईश्वर सिर्फ मूर्तियों में नहीं है, बल्कि हर पल हमारे साथ है, तो हम आस-पास एक शानदार दुनिया बना सकते हैं

‘कॉन्शियस लिविंग’ (सजग जीवन) का क्या अर्थ है? इसका मतलब है अपने जीवन को नियंत्रित करना, सोच-समझकर फैसले लेना और जो जीवन हमारे साथ घटित हो रहा है, उससे समझौता करने की बजाय वह जीवन जीना, जो हम चाहते हैं।

खुद में बेहतरी के लिए बदलाव लाना चाहते हैं तो अपने लिए कष्ट और आनंद के मायने बदलकर देखिए

सभी बदलना चाहते हैं लेकिन ज्यादातर ऐसा नहीं कर पाते, जिससे धीरे-धीरे अक्षमता पनपती है। इससे हताशा जारी रहती है, चूंकि हम मंशा के स्तर पर तो बदलने में सक्षम हैं लेकिन उसे अपने कार्यों में लागू नहीं कर पाते। जब सोना और सुस्ती आनंद है तथा जॉगिंग दर्द, तो सिर्फ इच्छा करना बदलाव नहीं लाएगा क्योंकि दर्द और आनंद एक ही सिक्के (पढ़ें जिंदगी) के दो पहलू हैं।

Humility keeps you connected to unspoken words

Last week Bollywood actress Shabana Azmi while interacting with some film students in an online session remembered her interaction with Hollywood actor, Kevin Spacey years ago in which he apparently said that how he disguised himself and travelled in New York metro—to remain connected with the world. He used to observe their lifestyle to bring that realistic acting in his role.

The Good Thing About Human Being is Being Human

Funda by N. Raghuraman

They are youth, and none of them is more than 28 years old, they all are educated and in good jobs with a decent pay check, but even after this they still feel that if something wrong is happening in the society then it is their job to put it right or they just want to keep on doing things which relaxes them and brings in the feeling that they have done something better today. In the whole week they only dedicate a day or two for the society.

बच्चों के सामने अपने काम को लेकर सतर्क रहें क्योंकि जहां आपकी कहानी खत्म होती है, वहां से उनकी शुरू होती है

कलियुग में लोग मैक्स के तरीकों से ही अमीर हो रहे हैं। लेकिन वे शायद ही समझते हैं कि उनके काम ने अगली पीढ़ी के लिए मूल्यों की व्यवस्था पूरी तरह मिटा दी है। अगर आपके काम नैतिक उद्देश्य और विचार से होते हैं। तो आपको ईश्वरीय आशीर्वाद की आत्मानुभूति का आनंद मिलेगा क्योंकि आप उस दिव्यता का ही बहुत छोटा हिस्सा हैं। अनैतिक तरीके अपनाकर, आसानी से कमाए गए पैसों से मिले संतोष की तुलना में यह आपको असीमित मानसिक संतुष्टि देगा।

अपने शौक को सफलता दिलाने के लिए सपनों को जिंदा रखें, आपका कॅरिअर भी सुनाने लायक कहानी बन सकता है

एक बार मैंने मशहूर क्रिकेटर अनिल कुंबले से पूछा कि ‘उन 10 लोगों का क्या हुआ जो आपके साथ बचपन में क्रिकेट खेलते थे?’ उन्होंने कहा, ‘बैंगलोर, जहां मैं पैदा हुआ, वहां मौसम अजीब रहता है। अचानक बारिश हो जाती है, वह भी एक मोहल्ले में होती है, दूसरा सूखा ही रहता है। बारिश होती तो मेरे दोस्त घर चले जाते।

किसी भारतीय बिजनेस में मुनाफा कमाना है तो 130 करोड़ की आबादी तक पहुंचने के लिए सभी भारतीय भाषाओं को इंटरनेट पर अपने साथ जोड़ना होगा

“ग्लोबल कदम बढ़ाइए, पर मुनाफे के लिए “लोकल से जुड़िए इन तीन बातों का आपस में संबंध न दशकों पहले की बात है पर मुझे अच्छी तरह से याद है कि वर्धा (महाराष्ट्र) स्थित सेवाग्राम में हमारे पड़ोसी की मृत्यु सिर्फ इसलिए हो गई थी क्योंकि उनके रिश्तेदार और डॉक्टर दोनों को ही समझ नहीं … Read more

बडे़ शहरों को छोड़ अब छोटे शहर में कमाई का नया ठिकाना बना रहे हैं युवा

Vegetable

Management Funda By N. Raghuraman क्या बनाना है और कहां बेचना है, कोरोना ने इनके बारे में धारणाएं बदल दी हैं। यह अच्छा लगे या न लगे, पर अब मेट्रो शहरों की तुलना में ग्रामीण इलाकों, छोटे शहरों और टियर-टू और टियर-थ्री शहरों में इन दिनों ज्यादा कमाई हो रही है। ये उदाहरण देखिए। पहली … Read more

आज हर कोई ऐसी जंग लड़ रहा है, जिसके बारे में हम कुछ नहीं जानते; हमें सिर्फ धैर्य, दयाभाव और सहानुभूति रखनी चाहिए

इस शनिवार मैं कार में पीछे बैठा अपने लैपटॉप पर व्यस्त था। मेरा ड्राइवर अक्सर हॉर्न नहीं बजाता और हॉर्न बजाने वालों को रास्ता देता है क्योंकि वह जानता है कि मैं डिस्टर्ब होता हूं। अचानक मैंने सुना कि मेरा ड्राइवर चिढ़कर हॉर्न बजा रहा है क्योंकि उसके आगे की कार काफी धीमे चल रही थी और रास्ता नहीं दे रही थी।

‘पॉजीटिव पीपुल्स क्लब’ और ‘कोविड-19 पॉजीटिव गाइज़’ जैसे वॉट्सएप ग्रुप पर नई दोस्ती शुरू हो रही हैं, जो उन्हें भरोसा है कि जिंदगीभर चलेंगी

उस अस्पताल में खुद को पत्रकार बताने वाले एक मरीज ने, खुद को करोड़पति बता रहे एक दूसरे व्यक्ति से पूछा, ‘आपको जिंदगी में सबसे ज्यादा खुशी किससे मिलती है?’ उस अभिनेता-करोड़पति ने कहा, ‘मैं जीवन में खुशी के चार चरणों से गुजरा और अंतत: मुझे खुशी के सही मायने समझ आए।

जो चीज जरूरत से ज्यादा है, उसे किसी को देने की ‘गांधीवाद’ सीख हमारे बच्चों को आज सिखाने की जरूरत

पैरेंटिंग में थोड़ा-सा ‘गांधीवाद’ हमारे बच्चों को सिखाएगा कि उन्हें वे चीजें नहीं लेनी चाहिए, जो उनकी नहीं हैं। साथ ही वे सीखेंगे कि जो चीज जरूरत से ज्यादा है, उसे किसी को दे दो।

कई बार आपको जगह के मुताबिक एक तय स्टैंडर्ड के कपड़े पहनना जरूरी होता है, ताकि बाकी समाज आपको स्वीकार करे

सम्मान हमेशा मिलता नहीं है, कई बार इसे लेना भी पड़ता है और खुद को पेश करने का तरीका (प्रेजेंटेबिलिटी) इसका एक रास्ता है।

ज्यादा से ज्यादा युवा पेशेवर खेती की तरफ जा रहे हैं क्योंकि यह उनका ध्यान चिंताओं से हटाता है, जो कार्यस्थल पर मिडलाइफ क्राइसेस का सामना कर रहे हैं

तीन महीने पहले जब कटहल का मौसम था, तब मेरे एक दोस्त ने चैट ग्रुप पर कटहलों की तस्वीरें डाली, जो उसकी नाशिक (महाराष्ट्र) स्थित दूसरी प्रॉपर्टी में ऊगे थे, जिसे वो रिटायरमेंट होम कहता है। यह हमारे लिए नया नहीं था। वह कई सालों से जब भी वह एक महीने के लिए वहां रहता, … Read more

पुराने दिनों की कई अच्छी चीजें नए दौर में में गौरव बढ़ा सकती है, लेकिन इसके लिए टेक्नोलॉजी से भरपूर एक धक्का लगाने की जरूरत है

“हम चांद पर इंसान को भेज चुके हैं, और तुम अब तक अपने खेत में गाय का गोबर इस्तेमाल करते हो? “एक सूट-बूट वाला आदमी बड़े ही अपमानजनक लहजे में एक किसान पर कटाक्ष करता है और उसके आसपास जमा लोग किसान पर हंसते हैं। वे सभी उस आदमी की तरफ ऐसे देखते हैं जैसे कि ईश्वर ने कोई फरिश्ता भेजा है जो उनकी उन्नति के लिए कोई बहुत महान काम करेगा।

हुनर किसी डिग्री की मोहताज नहीं होती, वह हुनर स्थायित्व देता है जो किसी पर निर्भर रहे बिना कुछ निर्मित कर सके

उसके पास कोई प्रमाण-पत्र नहीं है और न किसी संस्थान से प्रशिक्षण हासिल किया है। काम करते-करते ही उसने कबर्ड बनाने में महारत हासिल कर ली। वह अकेला नहीं था। उस असेंबली लाइन में कई और भी थे, जो किसी निजी कंपनी के लिए एक घंटे से कम वक्त में एक कबर्ड बना देते हैं। यह कंपनी सिर्फ अपना लेबल लगाकर लागत से 60 फीसदी अधिक कीमत पर उसे बेचती है।

जुनूनी लोगों के लिए खुला है शिक्षण का रास्ता, फिर वे गृहणियां हों, कॉलेज जाने वाले युवा या रिटायर्ड पेशेवर

इस महामारी में अपने छात्रों को सही शिक्षा देने के लिए केवल शिक्षक ही कड़ी मेहनत नहीं कर रहे हैं, बल्कि गृहणियां, युवा, रिटायर्ड पेशेवर भी संघर्ष कर रहे हैं और गरीबों में शिक्षा को जिंदा रखने के लिए नए आइडिया लेकर आ रहे हैं। ये रहे कुछ उदाहरण।

जब आप एसपी बालासुब्रमण्यम की तरह अपने हुनर से कमाते हैं तो वह काम या नौकरी जैसा नहीं लगता, बल्कि जिंदगी जीने जैसा लगता है

डिक्शनरी में ‘टैलेंट’ (हुनर) शब्द का अर्थ है किसी व्यक्ति की स्वाभाविक प्रतिभा। यह हमारा कौशल या स्वाभाविक क्षमता है। हम सभी में ये होती हैं, लेकिन हम पहचान नहीं पाते कि वे क्या हैं। जब युवा मुझसे पूछते हैं कि वे अपना हुनर कैसे पहचानें तो मैं कहता हूं कि वे अपने आस-पास के लोगों से उनका ईमानदार मूल्यांकन करने को कहें। कभी-कभी ये हुनर हमारे सामने ही होते हैं, लेकिन हम देख नहीं पाते। हममें से ज्यादातर उन्हें तब नहीं पहचान पाते, जब हम युवा होते हैं। जैसे हमारे पार्श्व गायक एसपी बालासुब्रमण्यम, जिन्हें प्यार से बालू भी कहते थे।

डिजिटल डिवाइस पर आपका व्यवहार मायने रखती है, इसलिए अगर कॅरिअर बदलना चाहते हैं तो इसका प्रयोग संभलकर करें

कोर्ट की वर्चुअल सुनवाई के दौरान एक वकील के धूम्रपान करने से नाराज़ होकर, गुजरात हाईकोर्ट के जस्टिस ए.एस. सुपेहिया ने गुरुवार को वकील पर 10 हजार रु. का जुर्माना लगाया और ‘गैर-जिम्मेदाराना आचरण’ के लिए खिंचाई की। अहमदाबाद के वकील अपनी कार के अंदर बैठकर अदालत की कार्यवाही में शामिल हुए थे।

अच्छी आदतें शुरू करने के लिए नए साल के इंतजार की जरूरत नहीं,यदि अभी से अमल करते हैं तो आपका दिल उसकी गवाही जरूर देगा

संभवत: वह मप्र के जबलपुर शहर स्थित सदर और मंडला रोड को जोड़ने वाले पेंटीनाका चौक पर कार सवारों को चारों दिशाओं में 60 सेकंड तक सिग्नल के खुलने का इंतजार करना पड़ता है। पिछले दिनों जब हम कार में इसी सिग्नल पर खड़े थे, तो पीछे एक फोर्ड एसयूवी सवार ने जोरों से ब्रेक … Read more

तेज-लगातार तेज़’ और ‘क्विक-लगातार क्विक’ कॉर्पोरेट में आगे बढ़ने के नए मापदंड हैं, पर जब जोखिम ज्यादा हो तो निजी तौर पर थोड़ा धीमा होने की जरूरत है

Management Funda, N Raghuraman

मैं मैनेजमेंट की ‘तेज़ और लगातार तेज़’ थ्योरी में गहरा विश्वास रखता हूं। जब भी मैं छात्रों को संबोधित करता हूं, उन्हें खरगोश-कछुए वाली कहानी याद दिलाता हूं, जिसमें अतिआत्मविश्वास के चलते खरगोश सोता रह जाता है और कछुआ रेस जीत जाता है। मैं उनसे पूछता हूं कि ‘अगर खरगोश को दूसरी बार मौका मिले … Read more

सीखने के लिए कभी भी देर नहीं होती, जिससे आप डरते हैं, उसके साथ प्रयोग कीजिए और बदलाव महसूस कीजिए

एन. रघुरमन

गोवा के पर्यटन मंत्री मनोहर अजगांवकर ने कहा कि उनके राज्य का पर्यटन क्षेत्र कोविड का टीका बाजार में आने के बाद ही गति पकड़ेगा, तो कई छोटे व्यापारी इससे खुश नहीं थे। ऐसा इसलिए है

शिष्टाचार ‘चमकीले दिन की उम्मीद’ जैसा हो गया है!

मैं मप्र के ग्वालियर की यात्रा पर था, तभी मेरे फोन पर तीन वॉट्सऐप मैसेज, तीन अलग-अलग लोगों से मिले लेकिन ये सभी निहितार्थ की दृष्टि से एक-दूसरे के पूरक थे। पहले मैसेज में लिखा था ‘चारों तरफ बारिश के नजारे के साथ, सूर्य दर्शन के लिये प्रतीक्षारत’। दूसरे में एक वीडियो था, जिसमें केबीसी … Read more

प्रबंधन केवल अकादमिक कारणों से अध्ययन का विषय नहीं है, यह जीवन जीने का तरीका बन गया है

मैं एक मध्यमर्वीय परिवार में पला-बढ़ा, जब क्रेडिट और डेबिट कार्ड चलन में नहीं थे और खर्च हमेशा आय से कम होता था। मेरी युवावस्था के दिनों में, मुझे पता नहीं क्यों ऐसा लगता था कि क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल पाप है। ऐसा इसलिए हो सकता है कि क्योंकि मैंने पिता को अपना पहला घर … Read more

अपना मकान’ निश्चित तौर एक कमाई हुई संपत्ति है पर पीढ़ियों के बीच परवाह के साथ ‘अपना घर’ हमें एक छत के नीचे प्यार के धागे से बांधे रखता है

एक हफ्ते पहले मेरे एक रिश्तेदार के किराएदार मुंबई केे दूरवर्ती उपनगर थाणे जिले चले गए, जहां उनके पैरेंट्स रहते हैं। इसके बावजूद कि दोनों डॉक्टर हैं, अच्छी कमाई करते हैं और उनका हॉस्पिटल भी बीच शहर में है, इसलिए उन्होंने मेरे रिश्तेदार का घर किराए पर लिया था।अपने पैरेंट्स के साथ शिफ्ट होने का … Read more

जोखिम से भी चैरिटी के लिए धन जुटाना संभव

वर्ष 2005 में अमीरात एयरलाइंस की क्रू मेंबर मारिया कांस्किाओ ने ढाका (बांग्लादेश) में बच्चों के जीवन पर गरीबी के प्रभाव को देखा। उन्हें अपना बचपन याद आ गया। उनकी मां उनका पालन-पोषण नहीं कर सकती थीं, क्योंकि वह अल्जाइमर की मरीज थीं। इसलिए एक अंगोलाई शरणार्थी क्लीनर क्रिस्टिना जिनके छह बच्चे थे, ने उसे …