कोरोना के बाद आपके वीकेंड का घूमना-फिरना बदलने वाला है, हमेशा एक टाइम स्लॉट होगा, जिसे आपको बहुत पहले बुक करना होगा

आपको वे दिन याद हैं जब आपकी पत्नी सुबह-सुबह उठते ही, खासतौर पर वीकेंड पर कहती थी, ‘आज मेरा खाना बनाने और घर पर रहने का मन नहीं है। हम पूरे दिन के लिए कहीं बाहर चलें?’ वह बड़े प्यार से पूछती थी। इससे पहले ही आप सोच पाएं कि आपकी क्या योजना थी, वह पहले ही तेजी से अपना प्लान बता देती थी।

वह कहती, ‘देखो, मेरा यह प्लान है। मैं हम दोनों के लिए शानदार कॉफी बनाती हूं, फिर हम जल्दी से तैयार हो जाएंगे। फिर हम नाश्ते के लिए अपने पसंदीदा इंडिया कॉफी हाउस जाएंगे, वहां से हम मेरे लिए फिल्म देखने के लिए टैबलेट खरीदने जाएंगे, जिसका तुमने मुझसे वादा किया था। फिर लंच के लिए हम मेरे मम्मी-पापा के घर चलेंगे।

मैंने मम्मी को पहले ही हमारे लिए खाना बनाने को कह दिया है। वहां से हम दोपहर के शो में फिल्म देखने जाएंगे, फिर तुम्हारी पसंद की किसी जगह पर तुम्हारे दोस्तों के साथ या उनके बिना ही डिनर के लिए जाएंगे और देर रात घर लौटेंगे। कैसा प्लान है?’ वह आंख मारते हुए पूछती थी। और आपके पास हां कहने अलावा कोई चारा नहीं होता था। यह उन कई तरीकों में से एक था जिनसे हम वीकेंड या रविवार बिताते थे। हर जगह भीड़ थी और हर जगह इंतजार करना पड़ता था।

कोरोना के बाद आप यह गतिविधि नहीं कर पाएंगे। हमेशा एक टाइम स्लॉट होगा, जिसे आपको बहुत पहले बुक करना होगा। आप लेट आ सकते हैं लेकिन आपको तय समय में निकलना होगा क्योंकि अगला टाइम स्लॉट किसी और को दिया गया है। आप अपने दोस्त के घर भी पहले से स्लॉट बुक किए बिना नहीं जा पाएंगे। इसे स्टारट्रेक जैसी भविष्य की किसी टीवी सीरीज का स्क्रीनप्ले समझकर नजरअंदाज मत कीजिए। ऐसा पहले ही होने लगा है।

‘बुक माय स्लॉट’ एप को आप डाउनलोड कर सकते हैं, जहां यूजर को सुविधा लेने के लिए रजिस्टर करना होता है। दुकानों, बैंकों, अस्पतालों, सैलूनों को भी सेवा इस्तेमाल करने के लिए रजिस्टर करना होता है। वे एप को अपनी वेबसाइट से भी लिंक कर सकते हैं, जिससे ग्राहकों को स्लॉट के साथ उत्पादों की उपलब्धता देखने में भी मदद मिलेगी।

कोची के टेकी ‘साजी कुरियन’ और एक्स-सर्विसमेन ‘सुबीलाल के’ द्वारा बनाए गया यह एप संस्थानों और आगंतुकों, दोनों की सुरक्षित रहने में मदद करता है। यह एक तरह की वर्चुअल लाइन है। इससे आपको पहले से अपॉइंटमेंट लेकर शॉपिंग, बैंकिंग जैसी जरूरतें पूरी करने में मदद मिलेगी, वह भी बिना लाइन में लगे, जिससे समय बचेगा और सोशल डिस्टेंसिंग भी बनी रहेगी।

अगर किसी व्यक्ति का टेस्ट पॉजीटिव आता है तो एप प्रशासन की मदद भी करता है। यह व्यक्ति के रूट को समय और तारीख के साथ ट्रेस करता है, ताकि वे सभी जो उसके संपर्क में आए हैं, उन्हें क्वारैंटाइन किया जा सके और आगे की कार्रवाई के लिए पहचाना जा सके, जो समय-समय बदलती रहती है।

कोई भी व्यक्ति या संस्थान प्लेटफॉर्म पर रजिस्टर कर सकता है और इसे शादी व इंटरव्यू जैसे प्राइवेट इवेंट के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका मतलब है कि अगर आपको शादी के लिए बुलाया गया है जो नवदंपति से मिलने और उपहार देने के लिए एक समय दिया जाएगा।

फंडा यह है कि हमारे वीकेंड की नई लाइफस्टाइल में आपका स्वागत है, जहां एप और अन्य टेक्नोलॉजी जीवन को चलाने में आपकी मदद करेंगी!
मैनेजमेंट फंडा, एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु ।

Leave a Reply