नाराज होने पर आपको हमेशा एक नियंत्रित प्रतिक्रिया देनी चाहिए, खासतौर पर तब, जब आप शीर्ष स्तर पर और सार्वजनिक जगह पर हों

विश्व के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नवाक जोकोविच को इस रविवार सनसनीखेज ढंग से यूएस ओपन के चौथे राउंड में डिस्क्वालिफाई कर दिया गया। ऐसा उनके द्वारा स्पेन के पाब्लो करेनो बुस्ता के खिलाफ मैच के पहले सेट में पिछड़ने पर गुस्से में हिट की गई बॉल लाइन अंपायर को लगने के बाद किया गया।

जोकोविच ने माफी मांगते हुए कहा कि उन्होंने जानबूझकर अधिकारी को नहीं मारा, बावजूद इसके उन्हें सजा दी गई। जब बुस्ता ने 4-5, 0-40 पर सर्व किया, जब जोकोविच तीन सेट पॉइंट गंवाने और गिरने के कारण निराश हो रहे थे। सर्व ड्रॉप कर 5-6 से पिछड़ने के बाद उन्होंने बॉल को कोर्ट के पीछे की ओर जोर से मारा जो अनजाने में महिला लाइन जज की गर्दन पर जा लगी। वह दर्द से कराहती हुई नीचे गिर गई और डरे हुए जोकोविच उनकी ओर दौड़े और माफी मांगी।

बाद में रेफरी आए और 12 मिनट चर्चा हुई। जोकोविच ने कहा कि उनकी मंंशा अधिकारी को मारने की नहीं थी और उन्होंने किसी को कहते हुए सुना कि ‘उन्हें इसके लिए अस्पताल जाने की जरूरत नहीं है।’ लेकिन 13वें मिनट में जोकोविच की किस्मत तय हो गई। उन्हें इवेंट से मिले सभी रैंकिंग पॉइंट से हाथ धोना होगा और ढाई लाख डॉलर का जुर्माना लगेगा, जो उनकी चौथे राउंड तक पहुंचने की इनामी राशि के बराबर है।

जोकोविच अंतत: हैरान बुस्ता से हाथ मिलाने गए और पांव खसीटते हुए चले गए। बाद में उन्होंने इंस्टाग्राम पर माफी मांगी: ‘इस स्थिति से मैं बहुत दु:खी हूं… मैं उन्हें यह तनाव देने के लिए बहुत माफी चाहता हूं। यह बहुत गलत था।’ ग्रैंड स्लैम के नियमों के एक उल्लंघन से भी सजा मिल सकती है। अगर आपने भी मेरी तरह घटना को लाइव या वीडियो पर देखा होगा तो जानते होंगे कि यह विशुद्ध रूप से हादसा था। मुझे लगा कि काफी माफी मांग रहे जोकोविच को डिस्क्वालिफाई करना अनुचित था। ग्रैंड स्लैम के अधिकारियों ने नियम के शब्दों का पालन किया, उसकी भावना नहीं समझी। बतौर खेलप्रेमी मुझे लगा कि एक चेतावनी उचित और न्यायपूर्ण होती।

इस घटना से मुझे मेरी जवानी के दिन याद आए। जब मुझे टेनिस से प्यार होना शुरू हुआ तब हम युवा बियोर्न बोर्ग के व्यवहार पर फिदा थे। हमें कभी जॉन मैकइनरो का कोर्ट पर व्यवहार पसंद नहीं आता था जो बोर्ग के शांत व्यवहार के विपरीत था। यह ऐसा था जैसे सभी माता-पिता को शांत लवर बॉय राजेश खन्ना पसंद आते थे, जबकि हम बच्चों को एंग्री यंगमैन अमिताभ बच्चन पसंद थे।

रोचक यह है कि हम अमिताभ बच्चन के फैंस मैकइनरो को ‘बैड बॉय’ कहते थे। किसी तरह हमारे स्कूल के दोस्तों में मैकइनरो की आक्रमक छवि बन गई थी, जबकि बोर्ग खीरे की तरह ठंडे थे। जब 1990 के ऑस्ट्रेलियन ओपन में ओरिजनल ‘बैड बॉय’ को डिस्क्वालिफाई किया गया, तब हमने खुद से कहा था, ‘हम जानते थे, एक दिन ऐसा होगा।’ अगर रविवार की घटना की तुलना किसी अन्य घटना से करना चाहें तो यह ब्रिटिश खिलाड़ी टिम हेनमैन थे, जिन्होंने वॉली नेट में लगने पर अनजाने में बॉल को ऐसे मारा कि वह बॉल गर्ल के कान में लगी और वह रोने लगी। वे 1995 में विंबलडन से डिस्क्वालिफाई होने वाले पहले खिलाड़ी थे। याद रखें, रविवार की घटना में शामिल खिलाड़ी दुनिया का नंबर 1 टेनिस प्लेयर है, जबकि हेनमैन जब डिस्क्वालिफाई हुए, तब वे 20 वर्षीय उभरते हुए खिलाड़ी थे।

फंडा यह है कि नाराज होने पर आपको हमेशा एक नियंत्रित प्रतिक्रिया देनी चाहिए, खासतौर पर तब, जब आप शीर्ष स्तर पर और सार्वजनिक जगह पर हों।
एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु

Leave a Reply