कार्यस्थल पर आप में कम से कम एक ऐसा गुण जरूर होना चाहिए जो बाकियों से ज्यादा श्रेष्ठ हो

पिछले दो दिनों से क्रिकेट खिलाड़ी और कई फैन्स सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर बीसीसीआई से एमएस धोनी की 7 नंबर जर्सी को भी रिटायर करने की मांग कर रहे हैं। जब सचिन ने क्रिकेट को अलविदा कहा था तब उनकी 10 नंबर जर्सी रिटायर की गई थी। फैन्स की ऐसी मांग बताती है कि धोनी का योगदान कितना बड़ा है, जिनके बचपन के क्रिकेट के भगवान खुद सचिन थे।

चूंकि मैं तमिलनाडु से हूं, जिसकी राजधानी चेन्नई है, इसलिए ज्यादातर तामिल खुद को धोनी से जोड़ते हैं क्योंकि वे शायद इकलौते क्रिकेटर हैं जिन्हें वहां पूजा जाता है। मैंने उन्हें अपने किले यानी एमए चिदंबरम स्टेडियम में कई मैच खेलते देखा है। एक दिन मैच के दौरान मैंने स्टेडियम से बाहर जाकर ‘धोनी धोनी’ की गूंज सुनी, जो पूरे चेपक में सुनी जा सकती थी, जहां वह स्टेडियम है। मैंने सोचा कि यहां के निवासी इस शोर को कोसते होंगे। लेकिन इसके विपरीत सभी ने कहा, ‘जब हम ‘धोनी धोनी’ सुनते हैं तो गर्व से भर जाते हैं कि वे हममें से एक हैं और चेन्नई सुपर किंग्स को जिता रहे हैं। हमें यह संगीत जैसा लगता है।’

धोनी की लोकप्रियता से किसी को भी ईर्ष्या हो जाए। वे हर उम्र और जेंडर के लोगों को पसंद हैं। मुझे पिछले 48 घंटों में एक भी ऐसी पोस्ट नहीं दिखी जिसमें उनके टाइटल ‘कैप्टन कूल’ का जिक्र न हो। वे इतने कूल थे। मैं वह प्रेस कॉन्फ्रेंस कभी नहीं भूल सकता जिसे उन्होंने तब संबोधित किया था जब ऑस्ट्रेलिया से टेस्ट में हारने के बाद टी20 सीरीज के लिए कुछ पुराने खिलाड़ियों की जगह युवाओं को जगह दी गई थी। धोनी से पूछा गया, ‘ड्रेसिंग रूम में मूड कैसा है?’ रांची के इस लड़के ने तपाक से जवाब दिया, जिसकी अंग्रेजी कुछ समय पहले तक बहुत अच्छी नहीं थी।

धोनी ने कहा, ‘संगीत के अलावा कुछ नहीं, जहां हम किशोर कुमार से शॉन पॉल पर चले गए हैं।’ क्या गजब जवाब था। शॉन पॉल जमैइकन डांसहॉल रैपर और गायक हैं, जिनके गाने ‘बिजी’ और ‘टेम्परेचर’ अमेरिका के चार्ट्स में शीर्ष पर रहे और उनके ज्यादातर एलबम ग्रैमी के लिए नॉमीनेट हुए। इस जवाब ने मुझे चौंका दिया। आपको याद है, फिल्म ‘एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ में उनके शिक्षक कहते हैं, ‘थोड़ी-बहुत इंग्लिश सुधार लो, बाद में काम आएगी।’ उन्होंने न सिर्फ स्पोकन इंग्लिश सीखी बल्कि सिर्फ एक लाइन में ड्रेसिंग रूम के माहौल का बदलाव भी बता दिया।

धोनी दोस्ती के लिए भी जाने जाते हैं। उनके ऊपर बनी फिल्म बचपन के दोस्तों से उनकी घनिष्ठता का सबूत है और क्रिकेट प्रेमी उनकी वही कैमिस्ट्री मैदान पर रैना के साथ देखते थे। उनकी साझेदारी एक और दोरन चुराने के लिए जानी जाती है।

उनकी दोस्ती की एक कहानी है। धोनी की शादी अचानक साक्षी के साथ तय हो गई। जब रैना को आमंत्रित किया गया, तब वे किसी और काम से लखनऊ एयरपोर्ट पर शॉर्ट्स और चप्पल में खड़े थे। चूंकि उन्हें जल्दी आने को कहा गया, इसलिए वे कपड़े लेने घर नहीं गए। उन्होंने दिल्ली और वहां से देहरादून के लिए उपलब्ध फ्लाइट ली और बिना वेडिंग ड्रेस शादी की जगह पहुंच गए। उनकी दोस्ती इतनी कूल थी। मेरे लिए तो धोनी के साथ ‘कैप्टन कूल’ टाइटल भी रिटायर हो गया।

फंडा यह है कि अपने कार्यस्थल पर आप में कम से कम एक ऐसा गुण जरूर होना चाहिए जो बाकियों से ज्यादा श्रेष्ठ हो ताकि जब आप रिटायर हों तो लोग आपको ही नहीं, आपके उस गुण को भी याद करें।
एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु

Leave a Reply