If you want the world to remember you always, then make sure you have at least one belief in life and relate all your actions revolve around it

idli-sambar

‘It is a sin to sell food,’ believed this hotelier! Despite being a hotelier, he never sold rooms, because he had none. But for his survival he and his family always had to sell food. But every time he sold food, he somehow strongly believed that he was accumulating more sin, because his father told … Read more

अब गरीब से लेकर अमीर तक हर कोई धीरे-धीरे ‘उद्देश्यपूर्ण जीवन’ की ओर रुख कर रहा है, जो कि सिर्फ जीने से कहीं अलग है

Funda by N. Raghuraman

हर पहल के पीछे एक मकसद होता है। अधिकांश लोगों का उद्देश्य जीवनयापन के लिए खर्च निकालना या अपना बिजनेस बढ़ाने के लिए मुनाफा कमाना होता है। वहीं कुछ अपने जीवन को बेहतरी की दिशा में बढ़ाने में सक्षम होते हैं! यहां इसके उदाहरण हैं। पहला उदाहरण : सूरत स्थित वराछा को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड के … Read more

अपना मकान’ निश्चित तौर एक कमाई हुई संपत्ति है पर पीढ़ियों के बीच परवाह के साथ ‘अपना घर’ हमें एक छत के नीचे प्यार के धागे से बांधे रखता है

एक हफ्ते पहले मेरे एक रिश्तेदार के किराएदार मुंबई केे दूरवर्ती उपनगर थाणे जिले चले गए, जहां उनके पैरेंट्स रहते हैं। इसके बावजूद कि दोनों डॉक्टर हैं, अच्छी कमाई करते हैं और उनका हॉस्पिटल भी बीच शहर में है, इसलिए उन्होंने मेरे रिश्तेदार का घर किराए पर लिया था।अपने पैरेंट्स के साथ शिफ्ट होने का … Read more

पारिवारिक लगाव ही जीवन को पूर्ण व खुशनुमा बनाता है

मु झे हमेशा उन लोगों के प्रति सहानुभूति रहती है, जिन्हें अपने कामकाज के सिलसिले में परिवार को छोड़कर मीलों लंबी यात्रा करनी पड़ती है। मैंने अपनी विवाह पूर्व की और वैवाहिक जिंदगी में परिवार के सदस्यों से दूर रहने के पलों को अनुभव किया है, जब मेरा काम मुझे उनसे दूर ले गया है। … Read more

नई जिम्मेदारी से पहले मजबूत रिश्ते जरूरी

2 015 की बात है, हम 10 लोग एक मीटिंग में थे जिसमें इंसान में गहरी मानवीय भावना (दयालुता) पैदा करने के तरीकों पर बातचीत हो रही थी। उद्देश्य था कि हम एक कम्पनी को गहराई से समझें और यह देखें कि वर्कप्लेस पर खुशियां बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए ताकि कर्मचारियों की उत्पादकता … Read more

कुछ करे बिना जय-जयकार नहीं होती!

बहुत से लोग उन्हें भूल चुके हैं, इसलिए नहीं कि हमारी याददाश्त कम है बल्कि इसलिए क्योंकि बीते लम्बे समय से उन्होंने कुछ भी ऐसा नहीं किया जिसे याद रखा जा सके। उन बीते सुनहरे वर्षों में हमने उन्हें स्कॉच पीती महिलाओं के साथ रॉक म्यूजिक पर थिरकते और हवा में धुएं के छल्ले बनाते … Read more

अपने थोड़े से प्रयासों और अलग सोच से आप निकल सकते हैं दुनिया की तमाम समस्याओं का हल

लॉकडाउन में हम सबने वायुप्रदूषण में कमी और फिर अनलॉक होते ही प्रदूषण बढ़ते हुए देखा। अब हम जानते हैं कि इसके लिए कौन जिम्मेदार है। पर कई लोगों को नहीं पता कि महामारी के दौरान प्लास्टिक प्रदूषण चरम सीमा पर पहुंच गया है। सिंगल यूज एप्रिन से लेकर पानी की बोतल तक यह सूची … Read more

जोखिम से भी चैरिटी के लिए धन जुटाना संभव

वर्ष 2005 में अमीरात एयरलाइंस की क्रू मेंबर मारिया कांस्किाओ ने ढाका (बांग्लादेश) में बच्चों के जीवन पर गरीबी के प्रभाव को देखा। उन्हें अपना बचपन याद आ गया। उनकी मां उनका पालन-पोषण नहीं कर सकती थीं, क्योंकि वह अल्जाइमर की मरीज थीं। इसलिए एक अंगोलाई शरणार्थी क्लीनर क्रिस्टिना जिनके छह बच्चे थे, ने उसे … Read more

मौजूदा समय में करुणा सबसे बड़ा सबक है, जिसे दुनिया को सीखने की जरूरत है और रामायण अन्य मानवीय गुणों के साथ करुणा भी प्रदान करती है

मैं अपनी मां, उनके माता-पिता और कई धार्मिक गुरुओं से रामायण सुनते हुए बड़ा हुआ। एक बात जो मुझे चौंकाती थी, वह थी सीता की उन राक्षसियों के प्रति करुणा, जो न सिर्फ अशोक वाटिका की रक्षा करती थीं बल्कि अपने स्वरूप और व्यवहार से सीता को भयभीत भी करती थीं। जब हनुमान उन्हें रावण … Read more

अगर आपके पास शक्ति है तो उसका इस्तेमाल कुछ अतिरिक्त प्रयास के साथ दूसरों को सशक्त करने में होना चाहिए

भगवान न करे कि ऐसा बुरा किसी के साथ हो, खासतौर पर युवाओं के साथ जो महत्वाकांक्षाओं से भरे होते हैं। लेकिन हमें बुरे से बुरी स्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए। कल्पना कीजिए कि एक छात्र ने कड़ी मेहनत से अपने जीवन की सबसे महत्वपूर्ण परीक्षा की तैयारी की जो उसके करिअर को आकार … Read more