अगर हम चाहते हैं कि हमारी अगली पीढ़ी औपचारिक रूप से शिक्षित न होकर उच्च स्तर पर शिक्षित हो, तो इसकी जिम्मेदारी केवल स्कूल नहीं संभाल सकते

N. Raghuraman

किसी से भी पूछिए कि देश का सबसे साक्षर राज्य कौन-सा है और पलक झपकते ही जवाब मिलेगा, केरल। लेकिन ज्यादातर लोगों को यह नहीं पता होगा कि वे ऐसा क्या करते हैं, जो हम नहीं कर सकते। उनका सुदृढ़ विश्वास है कि स्कूल और कॉलेज अकेले हमारे बच्चों को औपचारिक शिक्षा नहीं दे सकते। … Read more

हमारी जिंदगी के लिए अच्छी सेहत और ऐसे कई शुभचिंतक जरूरी हैं, जो हमें चाहते हैं, आशीर्वाद देते हैं, हमारी परवाह करते हैं

N. Raghuraman

रजनीकांत 2002 की असफल फिल्म ‘बाबा’ के अंत में संन्यास से सामाजिक-राजनीतिक जीवन में वापसी करते हैं। इस मंगलवार को उन्होंने यही थीम आभासी रूप से दोहराई, लेकिन उल्टे क्रम में। उन्होंने अपनी सेहत को ज्यादा जरूरी बताते हुए राजनीतिक पार्टी बनाने का वादा वापस ले लिया। उन्होंने अपने बीमार होने को ‘ईश्वर की चेतावनी’ … Read more

आप किसी को जो भी गिफ्ट दें, यदि उसमें किसी समस्या का समाधान है तो उपहार का मोल लाखों गुना बढ़ जाता है

Diwali Gift

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु हम सभी अपने करीबियों और अपने ग्राहकों को त्योहारों के दौरान गिफ्ट हैंपर (उपहार) देते हैं। मेरे जैसे दक्षिण भारतीयों के लिए उपहार देने की प्रक्रिया जनवरी मध्य से ही शुरू हो जाती है, जब हम ‘पोंगल’ मनाते हैं, जो दक्षिण में फसल की कटाई का बड़ा त्योहार है। अमीर और … Read more

अब फैसला लेने का समय आ गया है कि हम हमारे दादा-दादी, नाना-नानी की भोजन की आदतें अपनाएं

funda

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु ‘जो थाली में है वही खाना पड़ेगा।’ मैं यह कथन कभी नहीं भूल पाऊंगा क्योंकि बड़े होते हुए मैंने यह हर जगह सुना। फिर वह मेरा घर हो या नाना-नानी, दादा-दादी का। हमें सुबह 7.30 बजे ब्रेकफास्ट, दोपहर 12.30 बजे लंच और शाम 5.30 बजे डिनर मिलता था और फिर रसोई … Read more

अगर हम नेतृत्वकर्ता हैं, तो हमें कुछ निजी पसंद त्यागनी होंगी और प्रोटोकॉल का पालन करना होगा

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु। इस शनिवार क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने घोषणा की कि वह भारतीय बोर्ड के साथ जांच करेगा कि क्या पांच भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों ने नए साल की शाम बायो बबल सुरक्षा प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया। इस घोषणा का 7 जनवरी से सिडनी में शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट में भारत की योजना पर … Read more

भारत को धरती का सबसे खूबसूरत देश बनाने के लिए शहरी और ग्रामीण भारत को अपने सर्वोच्च गुण एक-दूसरे को सिखाने चाहिए

N. Raghuraman

इस सप्ताहांत जब मैं नई दिल्ली के टी2 एयरपोर्ट पर था, मेरे पास काफी समय बचा था क्योंकि मेरी फ्लाइट लेट हो गई थी। आमतौर पर मैं देरी से परेशान नहीं होता। एयरपोर्ट की सभी औपचारिकताएं खत्म कर मैं क्रेडिट कार्ड कंपनियों द्वारा चलाए जाने वाले लाउंज में पनाह ले लेता हूं। टी2 एयरपोर्ट पास … Read more

अपने एक विचार को खुलकर घूमने के लिए दिमाग को कंजेशन से दूर और ट्रैफिक फ्री रखें और तब खुद इसकी ताकत देखें

N. Raghuraman

दक्षिण दिल्ली में देवी काली को समर्पित कालकाजी मंदिर है। माना जाता है कि यह महाभारत काल से है। आमतौर पर मैं जब भी इस तरह के प्राचीन मंदिर जाता हूं, तो दिमाग में आने वाले कई सारे कंजेशन (उलझनों) से बचने के लिए योजना बहुत पहले से बना लेता हूं। यहां उलझनों से मेरा … Read more

2021 हर तरह के व्यापार को फिर से स्थापित करने का साल होगा, पर याद रखें कि दिमाग में पहले डिजिटल मानसिकता रखने से ही यह मुमकिन होगा

इस साल जनवरी में आईटी क्षेत्र में काम करने वाले प्रबंधन विशेषज्ञों ने खुदरा उद्योग की ऑनलाइन बिक्री में 6.7% वृद्धि का अनुमान लगाया था। पर महामारी के चलते 5 साल की वृद्धि चंद महीनों में हासिल हो गई। कुछ अनुमानों के मुताबिक, उपकरणों समेत घरेलू उत्पाद 70% की दर से बढ़े। इलेक्ट्रिकल इंडस्ट्री में … Read more

अगर आप लोगों की जिंदगी आसान बनाने को तैयार हैं, तो हमेशा एक कामयाब बिजनेस का अवसर मौजूद है

आभासी रूप से हम लगभग रोज ही खाना पकाते समय रसोई में उनसे मिलते हैं। जी हां, सब्जी से लेकर राजमा, शाही पनीर, दाल मखानी तक, हम जो भी व्यंजन पकाएं, उसके लिए हम रसोई की अलमारी से एक छोटा-सा पैकेट निकालते हैं। मसालों के पैकेट पर शानदार लाल पगड़ी और सफेद शेरवानी पहने हुए, … Read more

युवा अगर 2022-23 के बाद बेहतर वेतन वाली नौकरी तलाशना चाहते हैं, तो याद रखें कि ये रिटेल सेक्टर में छिपी है

Funda by N. Raghuraman

Management Funda by N. Raghuraman पिछले महीने अमेरिका की बड़ी सुपरमार्केट कंपनी वालमार्ट ने कुछ चीजें बंद कर दीं। कई वर्षों तक स्टॉक की ट्रैकिंग के लिए रोबोट समेत कई ऑटोमेटेड तकनीकों पर प्रयोग के बाद वालमार्ट ने तय किया है कि वास्तव में लोग ही बेहतर काम करते हैं। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की 2013 की … Read more