दुकानदारो, चिंता न करें, बेचने की कला बहुत नहीं बदली

Shopkeepers

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु इस सवाल का तेजी से जवाब दीजिए। शाहरुख खान किस बिजनेस में हैं? बिना पलक झपके ही आपका तुरंत जवाब होगा, ‘बॉलीवुड’। दुर्भाग्य से आपका जवाब थोड़ा गलत है। सही जवाब है, वे एंटरटेनमेंट बिजनेस में हैं और यही कारण है कि वे फीस लेकर या बिना फीस लिए भी भीड़ … Read more

घर पर बैठे बच्चे को मानसिक रूप से सक्रिय रखें, शरीर की सक्रियता स्वास्थ्य के लिए जरूरी

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु इस मंगलवार ज्यादातर भारतीय आसमान उदास, तेज हवाओं वाला था और थोड़ी बारिश भी हुई। मैं जिस एयरक्राफ्ट में सफर कर रहा था, उसे भी मौसम के कारण रास्तेभर झटके लगे, इसलिए क्रू ने यात्रियों को सीट से उठने से मना किया था। अलग-अलग जगह बैठे कुछ युवा यात्रियों ने शिकायत … Read more

बाजार में शिक्षा का सुविधानजक मॉडल उभर रहा है, सपने पूरा करने के लिए इसका लाभ उठाइए

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु गुजरात सरकार की घोषणा के अनुसार इस सोमवार से सरकारी व निजी दोनों दफ्तर अपने 100 फीसदी स्टाफ के साथ काम कर सकते हैं। उसी सरकार ने ऐसे छात्रों के लिए टीके के दोनों डोज़ में अंतर को कम करके 28 दिन कर दिया है, जो विदेशी विश्वविद्यालयों (विवि) में पढ़ने … Read more

ज्ञान का उदय हमारे काम की गुणवत्ता बढ़ाता है, फिर यह वही काम क्यों न हो, जो आप खुद को शिक्षित करने से पहले करते थे

Jalasay

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु शिष्य ने गुरु से पूछा, ‘गुरुजी, आपका ज्ञानोदय हो चुका है, अब आप क्या करते हैं?’ गुरु ने जवाब दिया, ‘मैं रोजमर्रा के काम करता हूं जैसे कुंए से पानी भरना।’ शिष्य ने पूछा, ‘ज्ञानोदय से पहले आप क्या करते थे?’ गुरु ने जवाब दिया, ‘मैं रोजमर्रा के काम करता था, … Read more

जीवन में अपने मूल्यों पर दृढ़ विश्वास रखते हैं तो आप बहुत अमीरों से ज्यादा समृद्ध हो सकते हैं!

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु ‘अ धमा धनमिच्छन्ति धनं मानं च मध्यमाः। उत्तमा मानमिच्छन्ति मानो हि महतां धनम्॥’ इस श्लोक का अगर मोटा-मोटा अर्थ समझें तो निचले दर्जे के व्यक्ति की चाहत हमेशा सिर्फ पैसा होती है ना कि मूल्य। औसत व्यक्ति पैसा व मूल्य दोनों चाहता है और कई बार धन के लिए मूल्यों से … Read more

स्वार्थी दुनिया में नि:स्वार्थता की चमक, ऐसी उदारता से हमारा समाज हराभरा और खुशहाल बनता है

N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु हम सभी ‘टू मिनट नूडल्स’ की दुनिया में रहते हैं। हम न सिर्फ सभी भौतिक सुख चाहते हैं, बल्कि अगर हम उदारता का छोटा-सा काम भी करते हैं तो सराहना और पहचान चाहते हैं। वर्ना आप इस घटना के बारे में आप क्या कहेंगे। सोशल मीडिया पर एक चिट्ठी वायरल हो … Read more

बच्चों के सामने चुनौतीपूर्ण परिस्थितियां रखें और सामाजिक उद्देश्यों के काम करवाएं, इससे उन्हें भविष्य मजबूत बनाने में मिलेगी मदद

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु इस मंगलवार देहरादून से 220 किमी दूर बागेश्वर के जखनी गांव में सैकड़ों महिलाएं, जिनमें आठ साल की बच्चियां तक शामिल थीं, ने एक जंगल में 500 पेड़ों को गले लगा लिया। उनका कहना था कि वे मर जाएंगी, पर पेड़ नहीं कटने देंगी। यहां बांज ओक और बुरांस जैसे उत्तराखंड … Read more

महान शिक्षक हमेशा प्रेरणादायी होते हैं, जिनमें सकारात्मक रवैये के साथ एक अच्छा इंसान भी होता है

Funda by N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु यूके के एक स्कूल से रिटायर होने के बाद जिओलॉजी के शिक्षक बॉब एलिसन (68) चीन के यांगझू शहर में नौकरी करने लगे। इस साल 4 जनवरी को उन्हें स्ट्रोक आया, जिससे उनका दायां हिस्सा आंशिक लकवाग्रस्त हो गया। डॉक्टरों को डर है कि एलिसन को एक और स्ट्रोक आ सकता … Read more

अच्छी नींद जिंदगी का आधारभूत नियम, जो जिंदगी बेहतर बनाती है, एक दिन की बात नहीं है; सालभर का काम

Management Funda by N. Raghuraman

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु गुरुवार की रात भारत-इंग्लैंड का चौथा टी20 मैच देखते हुए मेरा घर दो टीमों में बंट गया। बहस उस ‘सॉफ्ट सिग्नल’ पर थी, जो फील्ड पर मौजूद अंपायर केएन अनंतपद्मानाभन ने दिया था, जब सूर्यकुमार यादव का शानदार शॉट उड़कर डीप फाइन-लेग पर डेविड मलान तक पहुंचा, जिन्होंने विवादास्पद कैच लिया। अनंतपद्मानाभन … Read more

अगर यात्रा नहीं कर सकते, तो चिंतित न हों; सामाजिक दायरे को सींचते रहें क्योंकि रिश्ते ही आपको जीवन में खुश रखेंगे

एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु आ ज रविवार को हम अपने पहले लॉकडाउन का एक साल पूरा कर रहे हैं, संयोग से वह भी जनता कर्फ्यू के रूप में रविवार को ही लगाया गया था। तबसे हमने छुटि्टयों पर जाने की जैसी योजना बनाई थी, असल में वैसा हो ही नहीं पाया। कितनी बार आपके और … Read more