जो चीज जरूरत से ज्यादा है, उसे किसी को देने की ‘गांधीवाद’ सीख हमारे बच्चों को आज सिखाने की जरूरत

पैरेंटिंग में थोड़ा-सा ‘गांधीवाद’ हमारे बच्चों को सिखाएगा कि उन्हें वे चीजें नहीं लेनी चाहिए, जो उनकी नहीं हैं। साथ ही वे सीखेंगे कि जो चीज जरूरत से ज्यादा है, उसे किसी को दे दो।

पुराने दिनों की कई अच्छी चीजें नए दौर में में गौरव बढ़ा सकती है, लेकिन इसके लिए टेक्नोलॉजी से भरपूर एक धक्का लगाने की जरूरत है

“हम चांद पर इंसान को भेज चुके हैं, और तुम अब तक अपने खेत में गाय का गोबर इस्तेमाल करते हो? “एक सूट-बूट वाला आदमी बड़े ही अपमानजनक लहजे में एक किसान पर कटाक्ष करता है और उसके आसपास जमा लोग किसान पर हंसते हैं। वे सभी उस आदमी की तरफ ऐसे देखते हैं जैसे कि ईश्वर ने कोई फरिश्ता भेजा है जो उनकी उन्नति के लिए कोई बहुत महान काम करेगा।